अपह्रत ट्रैवल्स मालिक का शव घर पहुंचते ही मचा कोहराम,बिलख-बिलख कर रोये स्वजन 

0 127

एसपी,सीओ पहुंचे मृतक के घर,कई थानों का फ़ोर्स मौजूद रहा मौके पर  

कानपुर : अपह्रत ट्रैवल्स मालिक अमित यादव के शव का मंगलवार को कानपुर देहात के अकबरपुर में पोस्टमार्टम के बाद जब शव दोपहर कानपुर शहर में मंधना दाई पुरवा गांव स्थित उसके घर पहुंचा तो परिवार में कोहराम मच गया। मृतक के घर के बाहर बड़ी संख्या में भीड़ इकट्ठा हो गयी। वहीं मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस फ़ोर्स की तैनाती की गयी थी। मृतक की पत्नी रेखा और पिता रामसेवक का रो रोकर बुरा हाल था। मौके पर पहुंचे एसपी पश्चिम डा.अनिल कुमार व सीओ कल्याणपुर ने मृतक के स्वजनों से बात की और हर संभव मदद के अलावा दोषियों पर कड़ी कार्यवाई करने का भरोसा दिया। वहीं घटना के बाद से गाँव में मातम पसर गया है।

बता दे कि बगदौधी बांगर के दाई पुरवा गांव निवासी अमित यादव अपनी दो वैन कारों को किराए पर चलाते हैं। उनकी दूसरी कार के ड्राइवर छोटू के कहने पर शुक्रवार शाम अमित कल्याणपुर के बिठूर तिराहे से दो लोगों को लेकर रसूलाबाद की ओर बुकिंग के पर निकला था। जिस दिन अमित का अपहरण हुआ था उसी रात में आरोपियों ने लोअर के नाड़े से गला कसकर उसकी हत्या कर शव को दिबियापुर नहर में फेंक दिया था। कार मालिक की पत्नी की तहरीर पर कल्याणपुर पुलिस ने अपहरण समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। इस मामले के खुलासे के लिए पुलिस टीम ने ताबड़तोड़ दबिशें देकर दो आरोपियों धर्मेंद्र और प्रभात को गिरफ्तार कर लिया।आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने शव को रूरा के पास नहर से शव बरामद कर लिया। जबकि लूटी गई कार कानपुर-औरैया मार्ग पर लखनपुर गाँव के पास लावारिस हाल में पाई गई थी। सीओ कल्याणपुर दिनेश कुमार शुक्ला ने बताया कि,तीन अन्य मुख्य आरोपित प्रदुम्न गुप्ता,गोलू और अमित फरार है, उनकी तलाश में पुलिस ताबड़तोड़ दबिशें दे रही है।

अनहोनी की हो गई थी आशंका 

अमित को अनहोनी की आशंका हो गई थी। उसने वैन चलाते समय चुपके से पत्नी को फोन कर जानकारी दी थी लेकिन ये बात बदमाशों ने सुन ली और उसका मोबाइल छीनकर स्विच ऑफ कर दिया।
इसके तकरीबन बीस मिनट के भीतर अमित को मार दिया। सीओ दिनेश कुमार शुक्ला के मुताबिक शुक्रवार रात करीब साढ़े नौ बजे अमित यादव अपने बहनोई के घर से निकला। 9:45 बजे उसने अपनी पत्नी रेखा को फोन किया कि मुझे कुछ ठीक नहीं लग रहा है। हमारे साथ जो बैठे हैं उनके पास तमंचा है। पुलिस के मुताबिक वैन में बैठे अमित सिंह, गोलू और प्रद्युम्न ने ये बातचीत सुनकर उसका मोबाइल छीन कर बंद कर दिया।

जब रेखा ने दोबारा अमित का नंबर डायल किया तो वो स्विच आँफ बता रहा था। उन्होंने वैन ड्राइवर छोटू से बुकिंग कराने वाले प्रद्युम्न गुप्ता का नंबर लेकर रात 10:02 बजे फोन किया तो प्रद्युम्न ने कहा कि अमित एक बरात में गया है। सीओ के मुताबिक तब हत्या हो चुकी थी।

पंजाब से अपने घर केवल आया था वारदात करने 

कल्याणपुर इंस्पेक्टर जनार्दन प्रताप सिंह ने बताया कि 17 तारीख को प्रद्युम्न पंजाब से अपने घर केवल वारदात करने आया था। पर,निशाने पर कोई शख्स तय नहीं था। शुक्रवार शाम को प्रद्युम्न व अमित सिंह बिठूर तिराहे पर शिकार की तलाश में पहुंचे तो एक ईको कार 2 हजार रुपये में तय की। इसी बीच अमित यादव के ड्राइवर छोटू से रसूलाबाद के लिए 1600 रुपये में वैन तय हो गई। प्रद्युम्न ने बुकिंग कर 100 रुपये एडवांस उसको थमा दिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.