भरोसे की चादर में ढका आशियाने का ख्वाब

0 114

कन्नौज/तालग्राम   : क्षेत्र के ग्राम पंचायत तिलक सराय के ग्रामसभा  सुताह  मैं आवास ना मिलने से गरीब परिवार दर-दर भटक रहा सरकारी योजनाएं आप ही तो गरीबों के लिए है मगर लाभ अफसरों के चहेतों को ही मिलता है भले ही वह हकदार हूं या नहीं चाहतों के बाद योजनाएं गरीबों या यूं कहें हकदार ओ तक पहुंचती हैं प्रधानमंत्री आवास योजना का हश्र भी कुछ ऐसा ही हुआ जिंदगी भर कच्चे घरों में गुजर-बसर करने वालों को आवास के बजाय आश्वासन की घुट्टी पिला दी गई है अब जरूरतमंद एक अदद की उम्मीद लेकर जिंदगी काट रहे हैं

 

 

आवास मांगा तो मिला आश्वासन जिस का कहना है कि हमारे ग्राम प्रधान और हमारे ग्राम विकास अधिकारी जो कि हमसे कह रहे हैं कि आपका नाम लिस्ट में चल गया लेकिन ऐसा कुछ नहीं है 10 साल हो गए हैं प्रधान जी यही कह रहे हैं कि आपका नाम लिस्ट में चल गया लेकिन अभी तक मेरा नाम लिस्ट में नहीं चढ़ा है मेरे पास ना रहने के लिए घर है और ना कुछ सिर्फ एक कच्ची झोपड़ी है जिसमें हम और हमारा परिवार रहता है कुछ सालों पहले हमारे पति की मृत हो गई थी और हमारे दो छोटे-छोटे बच्चे हैं हमें उनका पालन पोषण करना मुश्किल पढ़ रहा है

 

पूरी सर्दी और बरसात मैंने कच्ची झोपड़ी में गुजारी  और ग्राम प्रधान कह रहे हैं कि हम अगली बार आपको आवास दिलवा देंगे वोट हमको ही देना पीड़ित महिला जया देवी पत्नी स्वर्गीय गिरीश चंद जिसके पास रहने के लिए पक्का मकान नहीं है और कच्ची झोपड़ी में ही अपने परिवार का पालन पोषण कर रही है आवास के नाम पर धोखा दिया गया है वही पीड़िता ने बताया आवास के लिए चक्कर लगाते लगाते थक गई हूं अब तो आश्वासन की चादर ओढ़ कर सो रही हूं

Leave A Reply

Your email address will not be published.