बैंक मैनेजर की प्रताड़ना से परेशान युवक ने लगाई थी फांसी शव रखकर घण्टो तक लोगों ने लगाए रखा जाम

0 55

बाराबंकी : कोतवाली क्षेत्र अन्तर्गत रौनी गांव निवासी एक युवक खादी ग्रामों उद्योग से फाइल बनवाकर पंजाब नेशनल बैंक से लोन करवाया था जिसकी सब्सिडी पंजाब नेशनल बैंक के शाखा प्रबन्धक द्वारा वापस मांगने व प्रताडना से आजिज होकर बीती देर शाम गांव से कुछ दूरी पर स्थित बाग में फांसी के फंदे से झूल गया और अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। परिजनों की सूचना पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने शव को नीचे उतरवाकर तलाशी लिया तो उसकी जेब से एक सुसाइड नोट निकला पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेज दिया।

पीएम होने के बाद बुधवार को परिजन शव लेकर सीधे पंजाब नेशनल बैंक शाखा त्रिवेदीगंज पहुंच गये और सैकड़ो की संख्या में लोगो ने शाखा प्रबन्धक के खिलाफ प्रदर्शन शुरू कर दिया जैसे ही इसकी भनक शाखा प्रबन्धक को हुई वह बैंक बंद कर मौके से फरार हो गये। जिससे ग्रामीण और नाराज हो गये और नेशनल हाइवे जाम कर जोरदार प्रदर्शन शुरू कर दिया। दोनो तरफ से यातायात घंटो बाधित रहा रोड़ जाम की सूचना जैसे ही उपजिलाधिकारी शालिनी प्रभाकर हुई तो वह मौके पर पहुंच गई

और लोगों को समझा बुझाकर शांत कराया और घटना की निष्पक्ष जांच स्वयं करने की बात कही जिसके बाद ग्रामीण शांत हुए और शव लेकर घर चल गये। जानकारी के अनुसार कोतवाली हैदरगढ़ क्षेत्र अन्तर्गत रौनी ग्राम पंचायत निवासी अधिवक्ता रूप नरायन का पुत्र शैलेन्द्र वर्मा उम्र लगभग 38 वर्ष बीती कुछ माह पूर्व खादी ग्रामोंउद्योग से विजनेस के उद्देश्य से एक फाइल तैयार करवाकर पंजाब नेशनल बैंेक के शाखा प्रबन्धक को दिया था मृतक के परिजनो का अरोप था

कि शाखा प्रबन्धक लोन करने के नाम पर मृतक शैलेन्द्र वर्मा से लाखो रूपए ऐंठ लिया और सब्सिड़ी दिलवाने के लिए मृतक को प्रताड़ित कर पैसो की मांग कर रहे थे जिससे तंग आकर मृतक ने फांसी के फंदे लटक कर आत्महत्या कर ली। मृतक के पिता ने यह भी बताया कि सोसाइड नोट में शाखा प्रबन्धक द्वारा मेरे बेटे से बीमा के नाम पर भी लाखो रूपये ले लिया। उनका यह भी कहना था कि मेेरे बेटे की मौत की वजह बैंक के शाखा प्रबन्धक है यदि वे परेेशान न करते तो शायद मेरा बेटा ऐसा कदम न उठाता।

मृतक परिजनो से मिले पूर्व विधायक

अधिवक्ता के पुत्र द्वारा सोसाइड करने का मामले की जानकारी जैसे ही पूर्व विधायक राम मगन रावत को हुई तो वह मौके पर पहुंच गये और वर्तमान सरकार पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि इस सरकार में अधिकारी व कर्मचारी पूरी तरह से बेलागम हो गये है जब तक कमीशन न मिले तब तक कोई काम नही करते जिसका उदाहरण आज सभी लोग देख रहे है रावत ने यह भी कहा कि घटना की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए और दोषी के खिलाफ सख्त से सख्त कर्रवाई होनी चाहिए।

न्याय को लेकर अडे़ अधिवक्ता

अधिवक्ता के पुत्र द्वारा सुसाइड करने का मामले की जानकारी जैसे ही तहसील बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अचल मिश्रा को हुई तो वह भी मौके पर पहुंच गये और भ्रष्ट शाखा प्रबन्धक के खिलाफ उपजिलाधिकारी से जांच कराने व कार्रवाई की बात कही।

Leave A Reply

Your email address will not be published.