Unnao Breaking News

0 140

मोहल्ला क्लास में कराई जा रही पढ़ाई

उन्नाव : कोरोना काल में सभी विद्यालय बंद है। प्राथमिक स्कूल मियागंज प्रथम की इंचार्ज शिक्षिका ने बिना मोबाइल वाले अभिभावकों के बच्चों के लिए मोहल्ला क्लास की शुरुआत की है। इसमें 10 से 15 छात्रों को एक स्थान पर एकत्र कर कक्षाओं का संचालन कर रही हैं। स्मार्ट फोन वाले अभिभावकों के बच्चों को ऑनलाइन ही पढ़ाया जा रहा है। इंचार्ज शिक्षिका सोनू सिंह ने बताया कि कोरोना काल के दौरान छात्रों की पढ़ाई का बहुत नुकसान हुआ है। ऑनलाइन पढ़ाई अवश्य शुरू हुई, लेकिन कई ऐसे छात्र हैं जिनके पास मोबाइल की व्यवस्था नहीं है। वह लगातार पढ़ाई से दूर होते जा रहे हैं। ऐसे छात्रों को शिक्षा से जोड़े रखने के लिए मोहल्ला क्लास की शुरुआत की गई है। मोहल्लों में जाकर छात्रों को एक स्थान पर बैठाकर पढ़ाया जाता है। उन्हें अन्य गतिविधियां भी कराई जाती हैं। बच्चों की बढ़ती संख्या देखते हुए लग रहा है कि मोहल्ला क्लास का अभियान जरूर सफल होगा।

महिलाओं ने वट वृक्ष की पूजा कर पति की लंबी आयु की कामना की

उन्नाव : ज्येष्ठ माह की अमावस्या पर गुरुवार को महिलाओं ने वट वृक्ष की पूजा कर पति की लंबी आयु की कामना की। महिलाओं ने बरगद का पूजन कर फेरी लगाईं।वट वृक्ष की पूजा करने के लिए महिलाएं सुबह से ही पूजन सामग्री, फल और दान सामग्री लेकर मंदिरों व मोहल्ले में स्थित वट वृक्ष पहुंचीं। सबसे पहले सावित्री की कथा सुनी। कथा में बताया गया कि सत्यवान की मृत्यु हो जाने पर यमराज प्राण लेकर जाने लगे तो पत्नी सावित्री भी पीछे-पीछे चल दीं। यमराज ने लौट जाने को कहा तो वह तैयार नहीं हुई। यमराज ने उनसे वरदान मांगने को कहा। सावित्री ने पहले अपने अंधे सास-ससुर की आंखें और दूसरा उनका राज्य वापस मांगा। यमराज ने वरदान दे दिया। इसके बाद भी सावित्री यमराज के पीछे चलती रहीं। सावित्री ने पति के प्राण वापस कर जीवित करने को कहा तो यमराज ने कोई और वरदान मांगने को कहा। इस पर सावित्री ने पुत्रवती होने का वरदान मांगा। यमराज ने यह वरदान दे दिया। इसके बाद यमराज को सत्यवान को पुनर्जीवित करना पड़ा। बरगद पूजा में महिलाओं ने कच्चे सूत से वृक्ष की फेरी के बाद भोग लगाया और फल अर्पित किए। एक-दूसरे को कच्चे सूत की माला पहनाई और आटे से बने बरगद खाकर प्रसाद लिया। कोरोना के चलते कई महिलाओं ने घरों में गमलों में रोपे गए बरगद के पेड़ की पूजा की तो कुछ ने टहनी मंगवा कर घर में ही पूजा की।

तेंदुए की दहशत सकरौली में छह लोगों पर हमला

फतेहपुर चौरासी : सकरौली में छह लोगों पर हमला कर घायल करने वाले तेंदुए की तलाश में तीसरे दिन वन विभाग की टीमें जंगल की खाक छानती रहीं। टीमें तेंदुए को नहीं तलाश सकी हैं। ग्रामीणों में तेंदुए की दहशत है। रात में जरा सी आहट नींद उड़ा देती है। किसान समूह बनाकर खेतों में काम कर रहे हैं। वन विभाग के अफसर ग्रामीणों को सतर्क रहने के लिए जागरूक कर रहे हैं।मंगलवार को सकरौली ग्राम पंचायत के मजरा बंगला का पास एक तेंदुआ देखा गया था। उसने हमला कर एक बच्चे सहित छह लोगों को घायल कर दिया था। पुलिस और वन विभाग की टीमों के लगातार प्रयास के बाद भी तेंदुआ पकड़ा नहीं जा सका है। इससे सकरौली, बंगला, हुलासी खेड़ा, धन्ना खेड़ा, मल्हपुर, माढ़ापुर, मल्लाहन पुरवा, जामड़, कुंडा, परशुरामपुर आसपास के दर्जन भर गांवों के लोग दहशत में हैं। क्षेत्रीय वन अधिकारी सुरेश कुमार सिंह ने बताया कि पांच टीमें बना कर 15 किमी क्षेत्र में डेढ़ दर्जन से अधिक गांवों में दिन-रात तेंदुए की तलाश चल रही है। अभी तक तेंदुआ नजर नहीं आया है।

ग्रामीणों का दावा है कि बुधवार शाम को खेतों की तरफ कुछ लोगों ने फिर तेंदुए को देखा है। वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची, लेकिन न तेंदुआ दिखा और न ही उसके पंजे का कोई निशान मिला। वन अधिकारियों के अनुसार ग्रामीण डरे हुए हैं। इससे वह सियार या किसी अन्य जानवर को तेंदुआ समझे होंगे। तेंदुआ बिना छेड़े किसी पर हमला नहीं करता। तीसरे दिन भी वन विभाग की टीमों को तेंदुआ नजर न आने पर उसके हरदोई, कानपुर या फतेहपुर की ओर चले जाने की आशंका जताई जाने लगी है। डीएफओ ईशा तिवारी ने बताया कि यह भी हो सकता है कि तेंदुआ नदी पार कर कानपुर की ओर या इसी तरफ रहकर हरदोई या फतेहपुर जिले की तरफ चला गया हो। हालांकि कांबिंग कर रही टीमों को एक सप्ताह तक गांव में ही रहने और लगातार कांबिंग करने के निर्देश दिए गए है।

सकरौली ग्राम पंचायत से सटी चहलहा ग्राम पंचायत के प्रधान डॉ. दिवाकर वर्मा ने बताया कि उनके गांव में भी लोगों में तेंदुए की दहशत है। बताया कि मंगलवार शाम को वन विभाग की टीम अगर तेज आवाज वाले पटाखे न दागती तो शायद तेंदुआ अब तक पकड़ में आ गया होता। हालांकि क्षेत्रीय वन अधिकारी सुरेश कुमार सिंह का कहना है कि जहां पर तेंदुआ देखा गया था वह झाड़ी गांव के काफी नजदीक है। वह रात के वक्त गांव में आकर किसी ग्रामीण पर हमला न कर दे इस लिए पटाखे दागे गए थे

व्यापारी समेत तीन घरों को निशाना बनाकर लाखों का माल पार

उन्नाव : बांगरमऊ व असोहा थाना क्षेत्र में चोरों ने कपड़ा व्यापारी समेत तीन घरों को निशाना बनाकर लाखों का माल पार कर दिया। बांगरमऊ के नसीरपुर भिक्खन गांव में कपड़ा व्यवसायी के घर हुई चोरी में फील्ड यूनिट टीम ने मौके पर पहुंचकर जांच की। क्षेत्र में चोरी की बढ़ती घटनाआे को लेकर लोगों में गुस्सा है। पुलिस ने शीघ्र खुलासे का भरोसा दिया है। बांगरम  नसीरपुर भिक्खन निवासी अरुण कुमार बांगरमऊ में कपड़े का कारोबार करते हैं। बुधवार रात परिवार के साथ खाना खाकर मकान की दूसरी मंजिल पर सोने चले गए। गुरुवार भोर पहर उठने पर अलमारी व बक्सों के ताले टूटे देख सभी को होश उड़ गए। अरुण ने दो लाख की नगदी व जेवर समेत 23 लाख की चोरी की जानकारी पुलिस को दी। अरुण के अनुसार उसके दो बेटों में बड़ा प्रभाकर इंडियन आयल में अधिकारी है व छोटा बेटा सुधाकर होटल मैनेजर है। भाई अवनीश कानपुर में रहकर प्रॉपर्टी डीलर का काम करता है । एक अन्य भाई पंकज कटियार गांव में खेती करता है। चोर घर में रखे सभी के जेवर पार कर ले गए। अरुण कटियार की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात चोरों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर सुराग तलाशने के लिए फील्ड यूनिट टीम को बुलाया। स्वाट टीम प्रभारी गौरव कुमार ने फील्ड यूनिट टीम के साथ पीड़ित के घर पहुंचकर सबूत जुटाए। खोजी कुत्ता मकान के तीनों कमरों को सूंघता हुआ किचन तक पहुंचा। उसके बाद वह बाहर निकल कर मीरापुर जाने वाले मार्ग पर 500 मीटर तक गया और इधर-उधर झाड़ियों को सूंघता हुआ लौट आया। एक कमरे में महिला के पैरों के निशान मिलने की भी चर्चा है। चोरों द्वारा आर्टीफिशियल ज्वैलरी न ले जाने को लेकर तरह-तरह की चर्चा है। पुलिस को किसी करीबी का हाथ होने का शक है।

गंजमुरादाबाद  ग्राम नेवल विजय कुमार राठौर ने कोतवाली में तहरीर देकर बताया कि बुधवार रात वह परिवार के साथ छत पर सोया था। मकान के पीछे से छत पर पहुंचकर घर में दाखिल हुए चोरों ने अलमारी, बक्से का ताला तोड़कर 10 हजार की नगदी व दो लाख रुपये के जेवर पार कर दिए। तड़के तीन बजे पत्नी बच्चे के लिए दूध लेने नीचे गई तब घटना की जानकारी हुई। असोहा इस्माइलपुर निवासी विनोद कुमार ने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि बुधवार रात वह घर में सो रहा था। सुबह उठने पर कमरे का ताला टूटा व दरवाजे खुले मिले। अंदर जाकर देखने पर अलमारी से एक लाख के जेवर गायब मिले। उसने अज्ञात लोगों के खिलाफ चोरी की तहरीर दी है। पुलिस जांच कर रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.