Unnao Breaking News

0 281

ट्रैक्टर-ट्राली से टकराई बाइक

औरास : कानपुर नगर के बेकनगंज निवासी शहनवाज (20) मंगलवार सुबह बाइक से संडीला से कानपुर जा रहा था। औरास-चकलवंशी मार्ग पर सीमऊ गांव के पास ट्रैक्टर-ट्राली से टकराने पर वह घायल हो गया। हेलमेट न होने से सिर में गंभीर चोट लगी है। डॉक्टरों ने पीएचसी से उसे जिला अस्पताल रेफर किया गया है

मजदूरों पर फायरिंग करने वाला गिरफ्तार

अचलगंज : क्षेत्र के बंथर औद्योगिक क्षेत्र स्थित स्लाटर हाउस में काम करने वाली महिला मजदूरों को भगाने के लिए ठेकेदार द्वारा फायरिंग कर उन्हें घायल करने की घटना में पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है जबकि दो की तलाश जारी है। अलीगढ़ के मिर्जापुर स्थित बिस्मिल्लाह कालोनी में रहने वाली रईशा अपने बेटे आमिर व बहन सन्नों के साथ 21 मई को अचलगंज के औद्योगिक क्षेत्र बंथर स्थित स्लाटर हाउस में मजदूरी करने पहुंची थी। सभी फैक्टरी के बाहर बनी कालोनी में रहते थे।

मजदूरों का ठेका लेने वाले सदर कोतवाली के शेखपुर नरी गांव निवासी राजा सिंह ने महिला मजदूरों को स्लाटर हाउस से भगाने व अपने मजदूरों को लगाने की योजना के तहत महिला मजदूरों पर रविवार रात फायरिंग की थी। जिससे तीन मजदूर घायल हो गईं थी। स्लाटर हाउस के सिक्योरिटी गार्ड रियाज की तहरीर पर पुलिस ने राजा सिंह व उसके दो अन्य साथियों पर मारपीट व जानलेवा हमले की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की थी। मंगलवार को पुलिस ने मुख्य आरोपी राजा सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। उसके दो अन्य साथियों की तलाश की जा रही है।

गांव के बाहर बंद घर में देर रात तेज धमाके से घर की दीवारें ढह गई।

चकलवंशी : माखी थाना क्षेत्र के पूरा निस्फपंसारी गांव के बाहर बंद घर में देर रात तेज धमाके से घर की दीवारें ढह गई। लगभग 300 मीटर दूर तक पहुंची आवाज से सनसनी फैल गई। घर के पास पहुंचे लोगों ने दीवारें गिरीं देख बारूदी विस्फोट की सूचना पुलिस को दी। जांच के दौरान पुलिस ने घर में रखा छोटा सिलिंडर फटने से धमाके की पुष्टि की है। वहीं घर के कमरे में बीयर की बोतलें, गिलास मिलने से गांव में तरह-तरह की चर्चा है।

थाना क्षेत्र के पूरा निस्फपंसारी गांव निवासी अली अहमद मुंबई में नौकरी करता है। तीन माह पहले उसने गांव में मकान बनवाया था। तीन माह पूर्व वह परिवार के साथ मुंबई चला गया। मंगलवार देर रात उसके घर में तेज धमाका हुआ। गहरीं नींद में सो रहे लोग उठकर घटनास्थल की ओर भागे। मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने उसके घर की दीवार ढह गई थी। पड़ोसी अली अहमद के चचेरे भाई आरिफ ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंचे एसओ राजेश सिंह ने सिलिंडर फटने से धमाका होने और सिलिंडर के टुकड़े घर में पड़े मिलने की बात कही है। धमाके से घर की दीवार के अलावा बर्तन, चारपाई टूट गई।

धवनरोड बाजार में मंगलवार सुबह से ही बाजार खुल

उन्नाव : एक माह से जारी कोरोना कर्फ्यू की बंदिश खत्म होते ही मंगलवार सुबह से ही बाजार खुल गए। अच्छी बिक्री की उम्मीद में व्यापारियों ने दुकानें सजा रखी थीं। हालांकि पहले दिन उतनी भीड़ नहीं रही जितनी उम्मीद थी लेकिन कपड़ा, कास्मेटिक, आटो मोबाइल, सराफा व मशीनरी सहित सभी दुकानों में ग्राहकों का आना जाना रहा। एक महीने से औसतन 3 से 4 करोड़ पर अटका रोज का कारोबार मंगलवार को करीब 10 करोड़ तक पहुंचा।

जिले में कोरोना के सक्रिय केस 600 से कम होने पर शासन के निर्देश पर जिला प्रशासन ने मंगलवार से सुबह 7 से शाम 7 बजे तक कुल 12 घंटे सभी प्रकार के बाजार खोलने की छूट दी है। एक महीने बाद दिनभर दुकान खोलने का मौका मिला तो व्यापारियों ने सुबह ही दुकानें खोल दीं। हालांकि तमाम दुकानदार ऐसे भी रहे जिन्होंने माल की कमी व भीड़ से बचने के लिए दुकानें नहीं खोलीं। सड़कों पर भी वाहनों का आवागमन सामान्य रहा। धवन रोड, सदर बाजार, वीडी मार्केट, मोती नगर मशीनरी मार्केट, सराफा बाजार, आटो मोबाइल शोरूम सहित सभी बाजारों में भीड़ रही।

जिले के ग्रामीण क्षेत्रों का भी यही हाल रहा। उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के जिलाध्यक्ष के मुताबिक कोरोना कर्फ्यू के दौरान प्रतिदिन औसतन जिले में 3 से 4 करोड़ का करोबार हो रहा था। कर्फ्यू में 12 घंटे की छूट के पहले दिन बाजारों में अपेक्षा के अनुरूप भीड़ और खरीदारी नहीं हुई। बताया कि मंगलवार को पूरे जिले में करीब 10 करोड़ का कारोबार हुआ है।

वाहन शो रूम तो खुले लेकिन उनमें वाहन खरीदने वालों से ज्यादा पूर्व में खरीदे गए वाहनों की सर्विस कराने वाले लोग शामिल रहे। बाइक शो रूम के मैनेजर विवेक कुमार, केके तिवारी, वैभव मिश्रा ने बताया कि पहले दिन कोई खास असर नहीं पड़ा। एक दो वाहन ही बिके हैं। हालांकि आने वाले दिनों में सहालग व व्यक्तिगत जरूरत के लिए लोग वाहन के रेट लेकर गए हैं। बताया कि वाहन की सर्विस कराने के लिए काफी लोग आए।

सराफा कारोबार में मंगलवार को कुछ रौनक रही। सराफा व्यापारी शिशिर गुप्ता ने बताया कि महीने भर बाद बिना रोकटोक के बजार खुले हैं। लेकिन उम्मीद के मुताबिक बिक्री नहीं हुई। बताया कि कुछ लोगों ने छोटे जेवर और आने वाले दिनों में शादी व अन्य मांगलिक कार्यक्रम के लिए डिजाइन पसंद कर पेशगी देकर जेवर तैयार करने के लिए कहा है। जिले में मंगलवार को बमुश्किल एक करोड़ का सराफा व्यापार हुआ है। सराफ राजेश गुप्ता, मयंक, दिनेश ने आने वाले दिनों में कारोबार बढ़ने की उम्मीद जताई।

कपड़ा व्यापारी हैप्पी अरोड़ा ने बताया कि कोरोना कर्फ्यू हटने से व्यापार बढने की उम्मीद है। हालांकि पहला दिन उम्मीद के मुताबिक नहीं गया। लेकिन शुरुआत हुई है। अभी लोगों के पास रुपयों की समस्या और सहालग भी नहीं है। कपड़ा व्यापारी राम जी गुप्ता, सौरभ, संतोष महेंद्र ने भी आने वाले दिनों में कारोबार पटरी पर आने की उम्मीद जताई।

जिला उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के जिलाध्यक्ष रजनीकांत श्रीवास्तव ने बताया कि 1 जून महीने का पहला दिन रहा। लोगों को वेतन व मासिक मानदेय प्रत्येक माह की 1 से 7 तारीख के बीच मिलता है। अभी लोगों के पास नगदी की कमी है। अनुमान है कि अगले तीन चार दिनों में करोबार में उछाल आएगा। बताया कि कोरोना को लेकर लोग खुद भी जागरूक हुए हैं। महीने भर बाद बाजार पूरी तरह खुलने से लोग भीड़ से बचने के लिए बाजार की ओर रुख नहीं किया।

नगर प्रशासन ने कोविड जागरूकता के लिए पब्लिक एड्रेस सिस्टम लगाने की बात कही थी। लेकिन बाजारों में यह कहीं नजर नहीं आया। सरकारी कार्यालय की इमारतों, कोरोना टीकाकरण केंद्रों में लाउड स्पीकर पर कोरोना से बचाव के संदेश प्रसारित होते रहे। हालांकि पीआरपी व पुलिस के वाहन संदेश बजाते हुए बाजारों से कई बार निकले।

अधिकांश दुकानदरों ने मास्क लगाकर दुकानों के अगले हिस्से में रस्सी बांधते हुए सामाजिक दूरी नियम का पालन करने की व्यवस्था पर जोर दिया। वहीं कोविड का विकाराल रूप देख चुके लोग भी अब जागरूक हुए हैं और मास्क लगाकर ही घरों से बाहर निकल रहे हैं।

शासनादेश के अनुसार जिन जिलों में कोरोना के एक्टिव केस 600 से कम हैं उन्हीं में कोरोना कर्फ्यू में 12 घंटे की ढील दी गई है। मंगलवार को जिले में एक्टिव केस की संख्या में 50 की कमी आई है। सोमवार को एक्टिव केस की संख्या 408 थी जो मंगलवार को 358 रह गई। सिटी मजिस्ट्रेट चंदन कुमार पटेल ने बताया कि अगर एक्टिव केस 600 से एक भी बढ़ा तो तत्काल कर्फ्यू लागू कर दिया जाएगा।

करीबी ने असलहों की फोटो वायरल

उन्नाव : बांगरमऊ में पिपरमिंट व्यापारी व संन्यासी की हत्या में हिंदू युवा वाहिनी के नगर अध्यक्ष को गिरफ्तार करने के दौरान पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त तमंचा के साथ उसका मोबाइल भी दाखिल किया था। गिरफ्तारी के वक्त स्वॉट टीम ने उसके असलहा तस्कर होने का भी दावा किया था।जेल जाने के बाद अचानक उसकी फेसबुक आईडी से असलहों व कारतूस के वायरल हुए फोटो से हड़कंप मच गया है। मोबाइल दाखिल होने से यह साफ है कि उसके ही किसी अपने ने उसकी फोटो वायरल की है।

पुलिस उसकी आईडी से जुड़े लोगों की गोपनीय रूप से कुंडली खंगाल रही है। पिपरमिंट व्यापारी सतीश व संन्यासी की हत्या में पकड़े गए हिंदू युवा वाहिनी से निष्कासित बांगरमऊ नगर अध्यक्ष कीर्तिमान गुप्ता के नाम की फेसबुक आईडी से असलहा व भारी मात्रा में कारतूस की फोटो व खरीद फरोख्त की चैटिंग सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। जांच कर रही पुलिस के अनुसार कीर्तिमान गुप्ता की गिरफ्तारी के बाद हत्या में प्रयोग तमंचा व मोबाइल दाखिल किया गया था। पुलिस का मानना है कि उसके जेल जाने के बाद किसी करीबी ने उसके नाम की फेसबुक आईडी से असलहों की पोस्ट का स्क्रीन शॉट लेकर वायरल किया है। यह आईडी कीर्तिमान ने खुद बनाई या किसी दूसरे के द्वारा बनाई गई है, इसकी जांच की जा रही है। उसके दोस्तों की भी लिस्ट बनाई जा रही है। एसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि जरूरत पड़ी तो हत्यारोपी को रिमांड पर लेकर पूछताछ के आधार पर सच सामने लाया जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.