विधानसभा के बाहर महिला ने आत्मदाह का किया प्रयास 

0 45

लखनऊ : उत्तर प्रदेश की विधानसभा के सामने आत्मदाह के प्रयास की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं । शनिवार की दोपहर एक महिला अपनी 7 साल की बेटी के साथ विधानसभा के गेट नंबर 1 के सामने पहुंची और उसने अपने शरीर पर केरोसिन ऑयल डालकर आत्मदाह का प्रयास किया लेकिन विधानसभा सुरक्षा में तैनात पुलिस कर्मियों ने उसे आग लगने से पहले ही पकड़ लिया। विधानसभा के सामने आत्मदाह करने आई महिला ने शाहजहांपुर पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं । एसपी शाहजहांपुर ने महिला द्वारा पुलिस पर लगाए गए आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है उनका कहना है कि महिला द्वारा आरोपी बनाए गए सिपाही को निलंबित किया जा चुका हैजानकारी के अनुसार शनिवार की दोपहर विधानसभा के सामने आत्मदाह करने पहुंची महिला का नाम सुषमा देवी है

और वह जसवंतनगर इटावा की मूल निवासी बताई जा रही है। पुलिस प्रवक्ता के अनुसार महिला के पति का नाम धर्मेंद्र कुमार है लेकिन वह शाहजहांपुर के सदर कोतवाली में तैनात आरक्षी पवन कुमार के साथ रहती थी । महिला के द्वारा यह आरोप लगाया गया है कि आरक्षी पवन कुमार ने उससे जबरन विवाह करना चाह रहा है और उसकी बेटी को भी प्रताड़ित करता है महिला ने शाहजहांपुर की सदर कोतवाली पुलिस पर सिपाही का पक्ष लेने का आरोप लगाया है । लखनऊ के हजरतगंज थाना क्षेत्र में विधानसभा के सामने आत्मदाह करने पहुंची सुषमा देवी के द्वारा पुलिस पर लगाए गए आरोपों को खारिज करते हुए शाहजहांपुर के एसपी एस आनंद का कहना है कि महिला सुषमा देवी शाहजहांपुर के सदर कोतवाली में तैनात रहे आरक्षी पवन कुमार के साथ रहती थी दोनों के बीच आपसी विवाद हुआ था

जिस के संबंध में महिला थाने में दोनों के बीच सुलह कराई गई थी परंतु महिला के द्वारा सदर कोतवाली में पवन कुमार के खिलाफ तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराया गया जिसके बाद उनके द्वारा आरक्षी पवन कुमार को निलंबित भी कर दिया गया है उन्होंने कहा महिला के द्वारा पुलिस पर जो आरोप लगाए जा रहे हैं वह पूरी तरह से निराधार हैं उनका कहना है कि महिला पुलिस पर झूठे आरोप लगाकर पवन कुमार से गुजारा हासिल करने का प्रयास कर रही है । उन्होंने कहा कि आरोपी सिपाही पवन कुमार निलंबित कर दिया गया है उसके खिलाफ विभागीय कार्यवाही भी जारी है । आपको बता दें कि अभी कुछ दिन पहले ही लखनऊ के मोहनलालगंज थाने के निवर्तमान प्रभारी निरीक्षक महेश दुबे पर गाड़ियां छोड़ने के एवज में रिश्वत मांगने का आरोप लगाकर दो लोगों ने विधानसभा के सामने आत्मदाह का प्रयास किया था जिसके बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया था और पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने आरोपी बनाए गए इंस्पेक्टर महेश दुबे व दो अन्य पुलिसकर्मियों को भी निलंबित कर दिया था।

विधानसभा के सामने अक्सर लोग आत्मदाह का प्रयास करने के लिए आते हैं लेकिन विधानसभा की सुरक्षा में मुस्तैद पुलिस कर्मियों के द्वारा अधिकतर लोगों की जान को बचा लिया जाता है। विधानसभा के सामने आत्मदाह के प्रयास करने वाले कई लोगों की जानें भी जा चुकी हैं। विधानसभा के सामने आत्मदाह करने पहुंची सुषमा देवी के प्रकरण के संबंध में जानकारी के लिए जब संवाददाता के द्वारा शाहजहांपुर की सदर कोतवाली के इंस्पेक्टर से बात की गई तो उन्होंने सिपाही पवन और इस प्रकरण के संबंध में पूरी तरह से अनभिज्ञता जताते हुए जानकारी होने से ही इंकार कर दिया जबकि शाहजहांपुर के पुलिस अधीक्षक एस आनंद ने इस प्रकरण में ट्विटर पर अपना जारी करते हुए बताया है कि पवन कुमार सदर कोतवाली में तैनात था जिसे निलंबित किया गया है।

 

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.