मवेशी भगाने खेत गए युवक की बाघ के हमले में मौत

0 35

अनुराग गुप्ता

बहराइच लखीमपुर बॉर्डर का मामला

बिछिया,बहराइच : मोतीपुर बहराइच ग्राम मंझरा में बाघ के हमले में किसान की मौत हो गयी।नदी किनारे खेत मे चर रहे मवेशियों को भगाने गए युवक की बाघ के हमले में मौत हो गई। साथियों के शोर मचाने पर बाघ अध खाया शव छोड़कर जंगल की ओर भाग गया। बाद में मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम और ग्रामीणों में नोकझोंक हुई। ग्रामीणों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इनकार करते हुए खेत में ही प्रदर्शन शुरू कर दिया और डीएफओ को मौके पर बुलाने पर अड़ गए। तिकुनियां थाने के प्रभारी निरीक्षक ग्रामीणों को समझाने का प्रयास करते रहे। बाद में प्रधान मौके पर पहुंचे और उन्होंने किसानों को समझाया, जिस पर वे माने और उन्होंने शव पोस्टमार्टम के लिए वन विभाग के अफसरों को सौंप दिया।

रविवार को तिकुनिया कोतवाली के गांव मंझरा पूरब निवासी  ओमप्रकाश (45) गाँव मंझरा पूरब मवेशी भगाने के लिए गया था। ओमप्रकाश नदी  किनारे अपने खेत में चर रहे मवेशीयो भगाने गया था वही पहले से ही घात लगाए बाघ ने ओमप्रकाश पर हमला कर दिया ओमप्रकाश की चीख-पुकार सुनकर आसपास के लोग दौड़े तब तक बाघ  ओमप्रकाश को अपना निवाला बना चुका था और जंगल की ओर भाग गया । बाघ को जाता हुआ देखकर अन्य ग्रामीणों ने शोर मचाते हुए लोगों को सूचना दी  शोर सुनकर बाघ शव को छोड़कर जंगल में चला गया। सूचना पर तिकुनियां थाने के प्रभारी निरीक्षक पहुंचे।

मैके पे वन विभाग के वन दरोगा  हरिलाल फॉरेस्टगार्ड जगमोहन वाचन लाल मिश्रा समेत कई कर्मचारी मौजूद रहे । ग्रामीणों  ने बताया  कि कुछ महीने पहले भी इसी जगह पर बाघ ने कई लोगो को  मौत के घाट उतारा था। इस घटना के बाद भी बाघ को पकड़ने की कोशिश नहीं की गई। ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.