New Ad

टेली कंसल्टेंसी के माध्यम से मिल रही विशेषज्ञ चिकित्सकों की सलाह

0
बहराइच: जनपद में परिवार का आकार संयोग से नहीं बल्कि दंपति की आवश्यकता और इच्छा से बने इसके लिए जनपद में मोबियस फाउंडेशन के सहयोग से आकार परियोजना चलायी जा रही है। इसके तहत ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य कैंप आयोजित कर जहां एक ओर लोगों को इलाज मुहैया कराया जा रहा है वहीं कैंप में आने वाले दंपति को परिवार नियोजन के आधुनिक सुविधाओं के बारे में जानकारी भी दी जा रही है।
इसी क्रम में हुजूरपुर ब्लॉक के ग्यानापुर में स्वास्थ्य कैंप आयोजित किया गया । इसमें दूर बैठे विशेषज्ञ चिकित्सकों ने टेली परामर्श के माध्यम से 52 मरीजों की सेहत का हाल जाना
और उन्हें जांच व दवाओं की सलाह दी। मौके पर मौजूद सीएचओ ने रक्तचाप, शुगर और अन्य जरूरी जांच कर बेहतर इलाज मुहैया कराने में चिकित्सकों का सहयोग किया । हुजूरपुर सीएचसी अधीक्षक आभाष अंकुर श्रीवास्तव ने बताया कि इस कैंप के माध्यम से सेहत के साथ समुदाय में परिवार नियोजन की स्वीकार्यता बढ़ाने में मदद मिलेगी।आकार परियोजना के जिला कार्यक्रम संयोजक विदुर कुमार ने बताया कि स्वास्थ्य कैंप का आयोजन सार्वजनिक स्थल जैसे -पंचायत भवन, स्वास्थ्य उपकेंद्र व स्कूलों में किया जाता है। कैंप में लाभार्थियों को बुलाने में आशा कार्यकर्ता का विशेष सहयोग रहता है।उन्होंने बताया कि इस कैंप के माध्यम से ऐसे दंपति जिनका परिवार पूरा हो गया है और वह बच्चे नहीं चाहते हैं उन्हें पुरुष व महिला नसबंदी सेवाओं की जानकारी दी जाती है ।
इसके अलावा दो बच्चों के जन्म में कम से कम तीन साल का अंतर रखने के लिए अस्थायी साधन जैसे कंडोम कॉपर टी प्रसव पश्चात लगने वाली कॉपर टी गर्भनिरोधक साप्ताहिक छाया गोली त्रैमासिक अंतरा इंजेक्शन व माला-एन गर्भनिरोधक गोली के बारे में जानकारी दी जाती है।
साथ ही किसी एक साधन का चुनाव करने में दंपति की मदद कर उन्हें साधन उपलब्ध कराया जाता है। इसके अलावा बिना चीरा टांका वाली पुरुष नसबंदी के बारे में पुरुषों को सलाह दी जाती है।आकार परियोजना के संयोजक प्रभात कुमार ने बताया कि बीते चार अक्टूबर से हुजूरपुर के आठ ग्राम पंचायतों में स्वास्थ्य कैंप आयोजित कर 400 मरीजों को स्वास्थ्य लाभ दिलाया जा चुका है। इसके अलावा कैंप में महिला व पुरुष सलाहकार के माध्यम से लोगों को परिवार नियोजन के आधुनिक साधनों की जानकारी दी जाती है और उनकी इच्छा व आवश्यकता अनुसार स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से परिवार नियोजन के साधन भी उपलब्ध कराये जाते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.