अब भी बनवा सकते हैंआयुष्मान कार्ड

0 114

बनवाने में नहीं लगता है कोई शुल्क

बहराइच में 2.81 लाख लोगों का बन चुका है कार्ड 

बहराइच  : प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत आयुष्मान कार्ड बनाया जाता है। जिसके माध्यम से लाभार्थी प्रति परिवार प्रति वर्ष 5 लाख रुपये तक की निःशुल्क चिकित्सीय सुविधाएं हासिल कर सकता है। जनपद में अब तक 19358 आयुष्मान कार्ड धारक इस योजना के तहत अपना इलाज करा चुके हैं, जिस पर 11 करोड़ रुपए से अधिक का खर्च इस योजना के तहत किया गया है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ राजेश मोहन श्रीवास्तव ने बताया कि जनपद के सभी 700 जनसेवा केन्द्रों के अलावा जनपद के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर आयुष्मान कार्ड निःशुल्क बनाया जा रहा है । जिन लोगों का आयुष्मान सूची में नाम अंकित है ऐसे सभी पात्र व्यक्ति यहाँ से गोल्डेन कार्ड बनवा सकते हैं।

किसको मिलता है लाभ 

कार्यक्रम के नोडल अधिकारी रवीन्द्र त्यागी ने बताया कि आयुष्मान योजना के तहत 2011 की सामाजिक आर्थिक जनगणना की सूची के अनुसार ऐसे परिवारों को शामिल किया गया है जो गंभीर बीमारियों का इलाज करने में असहाय थे या फिर ऐसी स्थिति में थे कि वह अपना इलाज नहीं करवा सकते थे। जनपद में ऐसे कुल परिवारों की संख्या 2.52 लाख है । जिसमें से 2.81 लाख व्यक्तियों का आयुष्मान कार्ड बन चुका है।

देखें सूची में नाम 

पात्रता जानने के लिए टोल फ्री नंबर 1800-180-4444 से फोन करके या आयुष्मान मित्र से संपर्क कर या नजदीकी जनसेवा केंद्र से संपर्क कर सूची में नाम देखा जा सकता है । सूची में नाम होने पर आयुषमान कार्ड बनवाया जा सकता है।

कैसे बनवाएँ आयुष्मान कार्ड 

सभी जनसेवा  केन्द्रों , सूचीबद्ध निजी व सरकारी अस्पतालों में आयुष्मान कार्ड निःशुल्क बनाए जाते हैं

आधार कार्ड या ड्राइवरी लाइसेंस या मतदाता पहचान पत्र के साथ राशन कार्ड लेकर जाएं

योजना के तहत मिलने वाली सुविधाएं 

लाभार्थी परिवार को हर साल पाँच लाख रुपए तक की निःशुल्क चिकित्सीय सुविधा

केवल भर्ती मरीजों को ही निःशुल्क उपचार की सुविधा

गंभीर बीमारी जैसे हृदय रोग , किडनी रोग, घुटना प्रत्यारोपण, कैंसर , मोतिया बिन्द, डायलेसिस और सर्जरी आदि सहित 1450 बीमारियों के इलाज की सुविधा

निःशुल्क इलाज या किसी भी समस्या के लिए हेल्पलाइन नंबर 1800-180-4444 की सुविधा

स्पताल से डिस्चार्ज के समय 15 दिन के लिए सभी आवश्यक दवाओं की निःशुल्क किट की सुविधा

रिवार के सभी सदस्य एक साथ बीमार होने पर भी एक साथ करा सकते हैं इलाज

एक साल में एक से अधिक बार इलाज की सुविधा

एक बार कार्ड बनने के बाद रिनीवल का झंझट नहीं आजीवन इलाज की सुविधा

पूरे देश में योजना से जुड़े किसी भी सरकारी अथवा प्राइवेट अस्पतालों में इलाज कराने की सुविधा

परिवार के छूटे सदस्य का बनवाएँ कार्ड 

शादी होने के बाद नए सदस्य के रूप में पत्नी का

पत्नी का नाम मायके की सूची में होने पर वह ससुराल में भी आयुष्मान कार्ड बनवा सकती है  नए जन्में शिशु का

जनपद के इन अस्पतालों में मिलती है सुविधा

सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर

प्राइवेट अस्पतालों में बद्री प्रसाद मेमोरियल चिकित्सालय, रेनबो हॉस्पिटल, महेश पाली क्लीनिक, मुस्तफा अस्पताल ,राहत अस्पताल , हिंदुस्तान चाइल्ड अस्पताल, इंडिया

Leave A Reply

Your email address will not be published.