New Ad

सुप्रीम कोर्ट से लाखों छात्रों को बड़ी राहत, नहीं स्थगित होंगी NEET-JEE की परीक्षाएं

0

 

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को एक बड़ा फैसला सुनाते हुए लाखों छात्रों को बड़ी राहत प्रदान की है, जिसकी वजह से अब उनका साल बर्बाद होने से बच जाएगा। जानकारी के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट ने NEET और JEE परीक्षा के आयोजन के खिलाफ दायर याचिका को खारिज कर दिया है और साथ ही इन परीक्षाओं के आयोजन को हरी झंडी दिखा दी है, जिसके बाद अब छात्रों को बड़ी राहत मिली है।
इस मामले में जस्टिस अरुण मिश्रा की पीठ ने मेडिकल प्रवेश परीक्षा NEET और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा JEE मेंस को स्थगित करने की मांग संबंधी याचिका को खारिज कर दिया है। इस याचिका पर अपना फैसला सुनाते हुए पीठ ने काफी सख्त रुख अपनाया हुआ था। पीठ ने याचिका खारिज करते हुए कहा कि क्या देश में सबकुछ रोक दिया जाए एक कीमती साल को यूं ही बर्बाद हो जाने दिया जाए
इस दिन आयोजित होनी हैं परीक्षाएं
आपको बता दें कि देश में जेईई मेंस परीक्षा 1 सितंबर से 6 सितंबर के बीच आयोजित होनी है। जबकि मेडिकल प्रवेश परीक्षा यानी नीट 13 सितंबर को आयोजित होनी है। कोविड-19 महामारी के चलते इस परीक्षा को स्थगित कराए जाने की मांग की जा रही थी, जिसको लेकर 11 राज्यों के 11 छात्रों ने सुप्रीम कोर्ट में इस मामले में एक याचिका भी दाखिल की थी लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट ने अपना रुख स्पष्ट करते हुए इस याचिका को खारिज कर दिया है।
याचिका में क्या कहा गया
इन परीक्षाओं को स्थगित करने संबंधी याचिका के जरिए कहा गया था कि कोरोना महामारी के कारण राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी की तीन जुलाई की नोटिस को रद्द कर दिया जाए। इस नोटिस के माध्यम से ही एनटीए ने संयुक्त प्रवेश परीक्षा मेंस, अप्रैल 2020 और राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा सितंबर में कराने का निर्णय लिया है। याचिका के जरिए स्थिति सामान्य होने के बाद इन परीक्षाओं को आयोजित कराने का अनुरोध किया गया था।
चलाई गई थी मुहिम
आपको बता दें कि देश में जेईई मेंस और नीट परीक्षा को स्थगित कराने के लिए एक मुहिम भी चलाई गई थी, यह मुहिम सोशल मीडिया के जरिए चलाई गई थी। जिसमें देश भर के छात्रों ने सोशल मीडिया  को काफी ट्रेंड कराया था। छात्रों का तर्क है कि ऐसे कठिन समय पर जब महामारी चरम पर है, ऐसी परीक्षा आयोजित होने पर उनके स्वास्थ्य पर गलत असर पड़ने पर इसका जवाब कौन देगा। छात्रों ने यह भी कहा था कि जब सभी परीक्षाएं स्थगित और रद्द हो सकती हैं, तो यह परीक्षाएं क्यों नहीं।
वहीं इससे पहले ही एनटीए ने यह स्पष्ट कर दिया था कि कोरोना महामारी के चलते नीट परीक्षा के आयोजन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग समेत अन्य सुरक्षा नियमों का पालन किया जाएगा। इसलिए परीक्षा केंद्रों की संख्या भी दुगनी की जा रही है, जिससे परीक्षा केंद्रों पर छात्रों की संख्या कम से कम इकट्ठा हो सके।

Leave A Reply

Your email address will not be published.