गोवंशो के चारा-पानी के लिए गौशालाओं में समय से नहीं आ रहा है बजट

0 107

फतेहपुर चैरासी,उन्नाव : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली सरकार नें राज्य भर में खेतों में खड़ी फसलों को नष्ट करने वाले आवारा पशुओं से सम्बन्धित इस गंभीर समस्या को देखते हुए इससे निपटने के लिए योगी सरकार नें गांवों में अस्थाई गौवंश आश्रय स्थलों की स्थापना कर दी,जिससे क्षेत्र के गोवंशों को उन्हीं गोवंश आश्रय स्थलों में बन्द कर उनके चारे पानी का पूरा प्रबन्ध करनें का ग्राम पंचायतों को आदेश दिया,जिसके लिए सरकार ने पंजीकृत गोशालाओं के लिए प्रति गाय के हिसाब से 30 रुपये अनुदान तय कर रखा है,इसी क्रम में फतेहपुर84 ब्लाक की ग्राम पंचायत कठिघरा,समसपुर अटिया कबूलपुर,काजीपुर बंगर,भड़सर नौसहरा,हरदासपुर में कुल 5 पंजीकृत गोशालाएं स्थापित कर दी,जिनमें गोवंशों की संख्या लगभग 200 के करीब है।जिसके बावजूद अनुदान इतना कम है कि आखिर 30 रुपये में गौमाता का पेट आखिर कैसे भरा जा सकता है।

इतना ही नहीं लगभग पांच माह से सरकार द्वारा जारी 30रुपये प्रति जानवर के हिसाब से भी अभी तक अनुदान पंचायतों में स्थित गोवंश आश्रय स्थलों को नहीं भेजा गया है,तथा गौसंचालक इधर उधर से जुगाड़ करके किसी तरह गौशालाओं में बन्धे गौवंशों के लिए चारे पानी की व्यवस्था कर रहे हैं,लेकिन 30रुपये प्रति जानवर के हिसाब से इतना कम बजट होनें के बावजूद भी सरकार गौआश्रयस्थलों को बजट समय पर उपलब्ध करानें में नाकाम साबित हो रही है।यही एक मात्र समस्या है कि गौसंचालक गौआश्रय स्थलों की ओर ध्यान देना भी उचित नहीं समझ रहे हैं,आखिर प्रति गोवंश के लिए इतनी कम धनराशि में एक गौवंश अपना भरपूर पेट भरकर आखिर कैसे हष्ट पुष्ट रह सकता है,इसपर सरकार कुछ भी विचार विमर्श करनें में नाकाम साबित हो रही है।

समय से नहीं आ रहा है बजट-

अस्थाई गोवंश आश्रय स्थलों में प्रत्येक जानवर के हिसाब से सासन स्तर से 30रुपये आते हैं।लेकिन इतनी कम धनराशि से गौमाता का कैसे पेट भरा जा सकता है इसपर सरकार कोई निर्णय नहीं ले रही है,इसके बावजूद 30रुपये के हिसाब से धनराशि सरकार समय से नहीं उपलब्ध करा पा रही है।जो काफी गम्भीर समस्या है।
क्या बोले जिम्मेदार

वही इस संबंध में जब मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी फतेहपुर 84 डॉक्टर संजय कुमार जी से बात की गई तो उन्होंने वीडियो साहब से जानकारी करनें की बात कहते हुए बताया कि अगर समय से फाईलें नहीं पहुंचेगी तो पैसा कैसे आयेगा। डिमांड आने के पश्चात मेंसन करके पैसा भेजा जायेगा,जो फाइलें जाती हैं उनको एकाउंटेंट से तैयार करानें के बाद भिजवानी है,मेरे स्तर की बात हो तो मैं तुरंत कर दूं।

 

ट्रैक्टर सवार ने बाइक में मारी टक्कर,बच्चा गम्भीर रूप से घायल

सफीपुर,उन्नाव।कोतवाली क्षेत्र के परियर भदेवना मार्ग पर ट्रैक्टर चालक ने सामने से आ रही बाइक में टक्कर मार दी जिससे पति-पत्नी सहित आगे बैठा बच्चा गम्भीर रूप से घायल हो गया तीनों को ग्रामीणों ने नर्सिग होम में भर्ती कराया जहां डाक्टर ने बच्चे की मौत हो गयी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.