मोहनलालगंज और नगराम में पराली जलाना पड़ा महंगा, पराली जलाने वालो पर दर्ज हुई FIR

0 107

लखनऊ : खेतों में पराली जलाना किसानो के लिए महंगा पड़ने लगा है। नगराम में संजय सिंह ने थाना नगराम में पराली जलाने के विरुद्ध अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कराई है तो मोहनलालगंज के अचली खेड़ा निवासी अशोक कुमार और इसी गांव के रामसेवक के विरुद्ध मोहनलालगंज थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। सरोजनीनगर में तहसीलदार की ओर से विजनौर के विनोद कुमार सिंह व राजू पर 2500 रुपये का जुर्माना लगाया है। उप कृषि निदेशक डॉ.सीपी श्रीवास्तव ने बताया कि सभी किसानों को पराली न जलाने और उससे होने वाले नुकसान की जानकारी दी जा रही है इसके बावजूद किसान मान नहीं रहे हैं। इसकी वजह से उनके विरुद्ध वैधानिक कार्रवाई की जार है

पराली न जलाने से बचेंगे 20 हजार

डॉ.सीपी श्रीवास्तव ने बताया कि कृषि वैज्ञानिकों के अनुसार पराली न जलाने पर 20हजार रुपये प्रति एकड़ की वचत होती है जिसका फायदा सीधे किसानों को होता है। खाद की मात्रा कम होने के साथ ही मिट्टी के पाेषक तत्व कम नहीं होते हैं। किसान पराली जलाता है उसे नुकसान के साथ ही आर्थिक दंड का नुकसान भी उठाना पड़ सकता है। न्यायालय के आदेश पर पराली जलाने पर 2500 रुपये से लेकर 15 हजार रुपये तक का जुर्माना लगाने का प्रावधान है। राजधानी में 187 गांवों में वाल पेंटिंग के माध्यम से किसानों को जागरूक किया जा रहा है। जिला कृषि अधिकारी ओपी मिश्रा और जिला कृषि रक्षा अधिकारी धनंजय सिंह की ओर से भी गोष्ठियों के माध्यम से जागरूक किया जा रहा है। पराली से कृषि योग्य भूमि के ऊसर में तब्दील होने की संभावनाएं भी बढ़ रही हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.