एनसीएल खडिया CHP मे कार्यरत STAR,O&M मे कार्यरत मजदूर की गिरने से मौत, भुगतान व सुरक्षा मानको के लिए मजदूरों ने किया प्रदर्शन

0 18
सोनभद्र/ शक्तिनगर ; शक्तिनगर थाने के अंतर्गत एनसीएल खडिया परियोजना के सीएचपी (कोल हैंडलिंग प्लांट ) का कार्य कर रही स्टार ओ एंड एम मे कार्यरत एक संविदा मजदूर की कथित उचाई से गिरने से बीते देर रात मौत होने की खबर सामने आई है जहां मजदूरों द्वारा आज सुबह बताया गया की मजदूर के गिरने की खबर मिलने पर उसे आनन- फानन मे उपचार हेतु जयंत स्थित नेहरू अस्पताल पहुचाया गया लेकिन चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जिसके बाद आज सुबह से ही मजदूर व स्थानीय नेता कंपनी व एनसीएल खडिया के खिलाफ लामबंद होकर उचित मुआवजा व मजदूरों को नियमानुसार मजदूरी का भुगतान सुरक्षा मानको की अनदेखी न कर कार्य कराने की मांग कर रहे है। मिली जानकारी के अनुसार सोमवार देर रात तकरीबन 1 से 2 बजे के दरम्यान एनसीएल खडिया परियोजना मे सीएचपी का कार्य कर रही स्टार ओ एंड एम कंपनी मे कन्वेयर ऑपरेटर के कार्य मे लगे 42 वर्षीय संविदा मजदूर जितेन्द्र नारंग निवासी जयंत क्षेत्र के जैतपुर गांव जिला सिंगरौली मध्यप्रदेश 80 फुट की उचाई से संदिग्ध परिस्थितियों मे गिर गये आनन- फानन मे उपचार हेतु उन्हें जयंत के नेहरू अस्पताल पहुचाया गया लेकिन वहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

 

इसके बाद मंगलवार सुबह से ही सभी मजदूर स्थानीय नेता संग धरने पर बैठकर एनसीएल खडिया व स्टार ओ एंड एम कंपनी के खिलाफ लामबंद होकर नारेबाजी करने लगे और मजदूरों को पूरी मजदूरी के भुगतान सुरक्षा मानक की अनदेखी न करने की मांग पर अडे थे। मजदूरों मे अंबिका प्रसाद ने बताया जुलाई माह से बिना कारण बताये नौकरी से वंचित रखा गया है और जब डयूटी पर थे तो पूरी डयूटी करने के बाद भी हाजिरी केवल 12 से 13 दिनो की ही लगाया जाता था। 6 माह से बैठाया गया है अभी तक नौकरी पर नहीं रखा गया एनसीएल अपना पल्ला झाड के खुद को पाख साफ बताता है जबकि ये उसकी जिम्मेदारी है की  मजदूर कैसे कार्य कर रहे उनका शोषण न हो। मुकेश व अन्य ने बताया की हर माह पूरी डयूटी कराने के बाद खाते मे जितने पैसे आते है किसी को 10 ,12,16 हजार मजदूरी मिलता है जबकि मजदूरी 26 हजार तक बनती है लेकिन बाकी रुपये कंपनी के मुकेश चटर्जी व नितीश तिवारी खाते से पैसे निकलवाकर ले लेते है। विरोध करने पर डयूटी से बैठा दिया जाता है। कई मजदूरो को बैठा दिया गया है जबकि एक मजदूर ने आत्महत्या तक का प्रयास किया था आश्वासन के बाद भी उसे अबतक नौकरी पर नहीं रखा गया है। घटना की सुचना पर पहुचे शक्ति नगर थाना प्रभारी राजेश कुमार सिंह ने मजदूरों से घटना के बारे मे जाना मजदूरों ने अपनी मांग उनके समक्ष रखकर न्याय करने की बात कही है वहीं पुलिस ने शव कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम हेतु बैढन भेजवा दिया और मामले की जांच मे जुटे है। आपको बता दे की कंपनी अपने कार्यकाल के दौरान से ही विवादों मे है लेकिन कंपनी पर व इसके जिम्मेदारो पर कभी कोई कार्वाई नहीं हुई यह एनसीएल और प्रशासनिक लचर व्यवस्था का उदाहरण है तभी कंपनी मनबढ तरिके से कार्य कर रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.