बुजुर्ग व गंभीर रोग से ग्रसित लोगों को लगेगी पहली डोज

0 156

 

कन्नौज : जिले में 10 बूथों के माध्यम से गुरुवार को गत चार  फरवरी को प्रतिरक्षित हुए 1230 हेल्थ केयर वर्कर्स व फ्रन्टलाइन वर्कर्स को दूसरा डोज दिया जायेगा | वहीं 8 बूथों के माध्यम से 1600 बुजुर्ग व गंभीर बीमारी से ग्रसित लोगों का टीकाकरण किया जायेगा। यह कहना है मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.के.स्वरूप का|

मुख्य चिकित्सा अधिकारी बताते हैं कोरोना वैक्सीन की दूसरी खुराक लेने के बाद  ही लाभार्थी के शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित होगी और वह पूरी तरह संक्रमण से सुरक्षित होगा लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि कोरोना वायरस उनके शरीर में नहीं प्रवेश करेंगे। वायरस पहले की ही तरह उनके शरीर में प्रवेश करेगा लेकिन मजबूत इम्यूनिटी के कारण वह शरीर में बीमारी पैदा नहीं कर पाएगा। लेकिन फिर भी ऐसे में जब तक करीब 70 फ़ीसदी लोगों का टीकाकरण नहीं हो जाता वैक्सीन लाभार्थी मास्क, हाथों की सफाई ,और शारीरिक दूरी का पालन जरूर करें।

 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि बेशक कोरोना से बचाव का टीका आ गया और जनपद में कोविड-19 भी काबू में हैं फिर भी लोगों को पहले की तरह अपनी जिन्दगी सामान्य बनाने में जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए।उन्होंने कहा कि बड़ी संख्या में लोगों ने यह मानकर की कोविड-19 खत्म हो चुका है लापरवाही बरतना शुरू कर दिया है यह लापरवाही भारी पड़ सकती है। प्रशासनिक स्वास्थ्य विभाग और लोगों के सामूहिक प्रयास से कोविड पर काफी हद तक काबू पा लिया गया है परंतु अब भी पता नहीं हमारे बीच कौन पाजीटिव हो। इसलिए कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते रहे सार्वजनिक स्थलों जैसे रेलवे व बस स्टेशनों,बाजार, शादी-विवाह व अन्य समारोहों में खास सावधानी बरतें यानि मास्क,दो गज की दूरी, हाथों की सफाई व सैनेटाइजर का प्रयोग कतई न छोडे़।

 

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा.गीतम सिंह ने बताया कि  कोविड-19 खत्म हो चुका है यह मानने की गलती नहीं करनी चाहिए। कोविड के मामलों पर काबू पाने में बचाव के उपायों की खास भूमिका रही। बचाव के उपाय आगे भी जारी रखें क्योंकि अभी कोरोना टीकाकरण के तीसरे चरण की शुरुआत हुई है जिसमें 60 वर्ष से ऊपर के लोगों व 45 से 59 साल तक के गंभीर बीमारी से ग्रसित लोगों का ही टीकाकरण किया जा रहा है, टीका अभी केवल स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रन्टलाइन वर्कर्स को लगा हैं। इनमें भी अभी बड़ी संख्या में ऐसे वर्कर्स है जिन्हें केवल एक ही डोज लगी हैं।इसलिए टीकाकरण के बाद सावधानी उतनी ही जरूरी है

Leave A Reply

Your email address will not be published.