योगा व नैचुरीपैथी प्रशिक्षितों को तैयार करेगा पूजा इंस्टीट्यूट कोरोना से बचाव में योगा एवं नैचुरीपैथी की भूमिका महत्वपूर्ण

0 172

लखनऊ : वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव में योगा एवं नैचुरीपैथी की भी भूमिका महत्वपूर्ण होने से इस क्षेत्र में रोजगार की संभावनायें तेजी से बढ़ रही है। इन्हीं संभावनाओं को देखते हुये योगा के क्षेत्र में भविष्य बनाने के लिये डिप्लोमा इन योगा एण्ड नैचुरीपैथी के प्रशिक्षण देने की शुरूआत की गयी है। इसके लिये जानकीपुरम, कुर्सीरोड स्थित पूजा इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिंग एण्ड पैरामेडिकल साइंसेज ने कदम उठाया है।

संस्थान के प्रबन्ध निदेशक डा0 आर0पी0 पाण्डेय एवं डायरेक्टर डा0 आशुतोष पाण्डेय ने बताया कि वैष्विक महामारी कोरोना के चलते अब लोगों में योग के प्रति एकाएक काफी रूचि बढ़ी है और इसे प्रशिक्षितों की देखरेख में सही ढंग से करने के लिये प्रशिक्षित योग टीचर की मांग बढ़ती जा रही है। इसी के देखते हुये पूजा इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिंग एण्ड पैरामेडिकल साइंसेज प्रशिक्षित योगा टीचर तैयार करने के लिये प्रवेष प्रक्रिया शुरू कर दी है और प्रशिक्षण मध्य अगस्त के बाद शुरू हो जायेगा। संस्थान इसके अलावा सहायक नर्स, डीपीटी, डीएमएलटी, डीएमआरटी, डीओटीटी, डीडीएलटी, सीएमएस एण्ड ईडी, डायलिसिस टेक्निषियन, नर्सिंग असिस्टेंट एवं डिप्लोमा इन एक्सरे एवं ईसीजी में प्रषिक्षण देने का भी काम कर रहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.