राममंदिर निर्माण के लिए गरीब परिवार ने गुल्लक तोड़कर 3051 रूपए निधि के रूप में सौपी   

0 91
 
बड़ी संख्या में शहर के चिकित्सकों ने भी धनराशि की समर्पित  
कानपुर : कहते है कि अगर आस्था बलवान है तो प्रभु को भी पाया जा सकता है। अयोध्या में भगवान श्रीराम मंदिर के निर्माण के लिए एक ऐसे गरीब परिवार ने गुल्लक तोड़कर 3051 रूपए निधि के रूप में सौपी जिनके घर में दरवाजा तक नहीं है। यह देखकर विश्व हिन्दू परिषद के प्रति प्रचारक समेत कार्यकर्ता भावुक हो गए।
दरअसल,नौबस्ता गल्ला मंडी इलाके के चित्रा डिग्री कालेज के पास रहने वाले विवेक के घर के सामने विहिप की टीम पहुंची तो देखा कि घर में दरवाजा नहीं है। घर के बाहर जो ठेला लगा हुआ था उसी को भिड़ाकर दरवाजे की शक्ल देदी जाती है। विवेक ने खुद ही निधि देने की इच्छा जाहिर की। विहिप के ब्रजभूषण अवस्थी यह सुनकर दंग रह गए। विवेक बिना समय गवाए भीतर गए और बच्चो की गुल्लक लाकर उनके सामने तोड़ दी। रसीद भर के लिए भले ही घर में पैसा न रहा हो मगर पूरी गुल्लक सौप दी। विवेक रोजाना घर के आसपास ही सब्जी का ठेला लगाते है। विहिप के प्रांत प्रचारक ओमेंद्र अवस्थी ने कहा कि यह वाकई अनुकरणीय पल था।
वहीं बड़ी संख्या में शहर के चिकित्सक राम मंदिर के निर्माण हेतु धनराशि समर्पित कर रहे हैं। नगर के पूर्व मुख्य चिकित्सा अधिकारी  एवं आईएमए कानपुर के पूर्व अध्यक्ष डा वी सी रस्तोगी एवं उनकी पत्नी शिशु एवं बाल रोग विशेषज्ञ  डा सविता रस्तोगी ने गुरुवार को  21000- 21000 की समर्पण निधि चेक के माध्यम से आईएमए कानपुर के पूर्व अध्यक्ष डा प्रवीन कटियार व राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कुटुंब प्रबोधन के प्रमुख डॉ विवेक सिंह सचान को सौंपे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.