प्रियंका-अखिलेश ने बुलंदशहर घटना को बताया निंदनीय, सख्त कार्रवाई की मांग

0 213

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में दो साधुओं की हत्या पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी व सपा मुखिया अखिलेश यादव ने सख्त नाराजगी जाहिर की है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी व अखिलेश यादव ने मंगलवार को ट्वीट कर यूपी में हो रहीं हत्याओं में सरकार से सख्त कार्रवाई की मांग की है।

प्रियंका ने ट्वीट किया, अप्रैल के पहले 15 दिनों में ही उप्र में 100 लोगों की हत्या हो गई। तीन दिन पहले एटा में पचौरी परिवार के 5 लोगों के शव संदिग्ध परिस्थितियों में पाए गए। कोई नहीं जानता कि उनके साथ क्या हुआ। आज बुलंदशहर में एक मंदिर में सो रहे दो साधुओं को बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया गया।

ऐसे जघन्य अपराधों की गहराई से जाँच होनी चाहिए और इस समय किसी को भी इस मामले का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए। प्रियंका गांधी ने कहा, सरकार से निष्पक्ष जांच करके पूरा सच प्रदेश के समक्ष लाना चाहिए। यह सरकार की जिम्मेदारी है।

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीटर पर लिखा, उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में मंदिर परिसर में दो साधुओं की हत्या अति निंदनीय व दुखद है। इस पकार की हत्याओं का राजनीतिकरण न कर इनके पीछे की हिंसक मनोवृत्ति के मूल कारण या आपराधिक कारण की गहरी तलाश करने की आवश्यकता होती है… इसी आधार पर समय रहते न्यायोचित कार्रवाई करनी चाहिए…

बता दें कि बुलंदशहर के अनूपशहर कोतवाली में दो साधुओं की मंदिर परिसर में गला रेतकर हत्या कर दी गयी। सोमवार-मंगलवार की दरम्यानी रात मंदिर में सो रहे साधुओं की बड़ी बेरहमी से हत्या की गयी। मंगलवार सुबह ग्रामीणों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। जिसके बाद पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को हिरासत में भी लिया है। पुलिस के अनुसार आरोपी नशेड़ी है। उससे पूछताछ की जा रही है।

पुजारियों के चिमटा से उपजा विवाद एसएसपी संतोष
कुमार ने मीडिया को बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। प्रारंभिक जांच में खुलासा हुआ है कि कुछ दिन पूर्व आरोपी ने पुजारियों का चिमटा चुरा लिया था। जिसके बाद साधुओं ने उसे डांटा था। इसी बात से आरोपी नाराज था। इसके बाद ही उसने आज सुबह दो पुजारियों की हत्या कर दी। आगे की जांच जारी है। इस मामले में सीएम योगी ने भी बुलंदशहर के जिलाधिकारी व एसएसपी को जल्द से जल्द खुलासा करने व दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.