ठाकुरगंज थाना क्षेत्र के सरफराजगंज में हुई फायरिंग की घटना में वांछित दो दबंगों को ठाकुरगंज पुलिस ने गिरफ्तार

0 13

2 तमंचे कारतूस बरामद अब तक पांच लोगों की हुई गिरफ्तारी

एडीसीपी ने कहा दबंगई करने वाले बख्शे नही जाएंगे

लखनऊ : 3 दिन पूर्व ठाकुरगंज थाना क्षेत्र के सरफराजगंज में हुई फायरिंग की घटना में वांछित दो दबंगों को ठाकुरगंज पुलिस ने गिरफ्तार कर दो अवैध तमंचे चार कारतूस बरामद किए हैं । ठाकुरगंज पुलिस के द्वारा मिश्री बाग कैटिल कॉलोनी ठाकुरगंज के रहने वाले मोहम्मद इमरान और अली कॉलोनी ठाकुरगंज के रहने वाले आदिल को गिरफ्तार किया है 3 दिन पूर्व 25 तारीख की रात सरफराजगंज में प्रॉपर्टी डीलर सुधांशु सिंह पर लाठी-डंडों से हमला कर इन दबंगों के द्वारा अपने साथियों के साथ मिल कर फायरिंग की गई थी। पुलिस को चुनौती देने वाली इस घटना में शामिल तीन आरोपियों अलमास बाग ठाकुरगंज के रहने वाले शाबान रिज़वी, नानक नगर ठाकुरगंज के रहने वाले अहमद हुसैन और सरफराजगंज ठाकुरगंज के रहने वाले मोहम्मद मोहसिन उर्फ प्रिंस की गिरफ्तारी पुलिस पहले ही कर चुकी है। एडीसीपी पश्चिम चिरंजीवी नाथ सिन्हा ने पत्रकार वार्ता में बताया कि गिरफ्तार किए गए इमरान और आदिल दबंग किस्म के लोग हैं इन लोगों के द्वारा 25 तारीख की रात में प्रॉपर्टी डीलर सुधांशु सिंह पर लाठी-डंडों से वार कर फायरिंग कर दहशत फैलाई थी

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों के आपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है। आपको बता दें कि 25 तारीख की रात सरफराजगंज में हुए सुधांशु सिंह पर हमले से पहले सरफराजगंज के ही रहने वाले अली नामक युवक की स्कूटी से टक्कर के बाद दबंगों ने अली को जमकर पीटा था लेकिन हादसे के बाद हुई मारपीट की शिकायत लेकर कोई भी पक्ष थाने नहीं आया था और पुलिस पर लापरवाही के आरोप भी लगे थे लेकिन इंस्पेक्टर ठाकुरगंज हरिशंकर चंद का कहना कि अली नामक युवक से हुई मारपीट के संबंध में उन्होंने दोनों पक्षों को कई बार थाने आकर तहरीर देने की बात कही थी लेकिन दोनों पक्षों ने ही मामला आपसी बताकर तहरीर देने से इनकार कर दिया था जिसकी वजह से मुकदमा नहीं दर्ज किया गया था । बताया जा रहा है कि सुधांशु सिंह भी प्रॉपर्टी डीलर है और गिरफ्तार किए गए इमरान , आदिल के अलावा शाबान रिजवी , अहमद हुसैन और मोहसिन ये सभी प्रॉपर्टी के कारोबार से जुड़े हुए हैं। एडीसीपी का यह भी कहना है कि घटना के पीछे जमीन को लेकर पुराने विवाद का पता भी चला है जिसकी जांच की जा रही है ।

उन्होंने बताया कि दबंगों के पास से बरामद असलहे इनके पास कहां से आए इसकी भी जांच की जा रही है उनका कहना है कि किसी को भी कानून हाथ में लेने और दबंगई की इजाजत नहीं है यदि किसी के साथ कोई घटना घटित होती है तो उसे पुलिस से शिकायत करनी चाहिए पुलिस कार्यवाही करेगी लेकिन सफेद मस्जिद के पास 4 दिन पूर्व दो वाहनों की टक्कर के बाद हुए विवाद कि किसी ने शिकायत नहीं की थी। उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि दबंगई करने की छूट किसी को नही है और दबंग बख्शे नही जाएंगे। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दबंग प्रॉपर्टी डीलिंग के कारोबार से जुड़े हुए हैं और झगड़े के बाद दोनों ही पक्षों ने पुलिस के पचड़े में न पड़ इस पूरे मामले को खुद ही निपटाने की योजना बनाई थी और 25 तारीख की रात हुई फायरिंग की घटना भी दबंगों की आपराधिक सोच का ही नतीजा था । सूत्र बता रहे हैं कि दबंग ठाकुरगंज थाना क्षेत्र में ही नहीं बल्कि आसपास के क्षेत्रों में भी विवादित जमीनों की खरीद-फरोख्त के कारोबार में लिप्त हैं जिसकी वजह से आपसी दुश्मनी ऐसे लोगों के दिलों में पल रही हैं । सूत्रों के अनुसार इस तरह के तमाम ऐसे दबंग ठाकुरगंज थाना क्षेत्र में अभी भी खुलेआम घूम रहे हैं जो विवादित जमीनों के कारोबार से जुड़ कर अथाह पैसा कमा रहे हैं और दबंगई पर उतारू है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.