झांसी रेलवे स्टेशन का नाम न हटाया जाए, समर्थन में सामने आए व्यापारी जिलाधिकारी के माध्यम से गृह व रेलमंत्री को भेजा ज्ञापन

0 44

झाँसी : उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल की बैठक अशोक जैन, पुनीत अग्रवाल आदि प्रमुख नेताओं की उपस्थिति में हुई जिसमें झांसी-कानपुर रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई किए जाने पर व्यापारियों ने प्रसन्नता व्यक्त की लेकिन यह भी मांग की कि झांसी रेलवे स्टेशन के नाम के साथ झांसी का नाम नहीं हटाया जाना चाहिए। वक्ताओं ने कहा कि जब महारानी लक्ष्मीबाई ब्याह कर नगर में आई थी तो उस समय इस नगर का नाम झांसी ही था। झांसी हमारे लिए अपने आप में ही गौरव पूर्ण नाम है हमारे लिए जितनी सम्मानीय महारानी लक्ष्मीबाई हैं उतना ही प्यार हम अपनी झांसी से भी करते हैं।

सदस्यों ने गृह मंत्री जी भारत सरकार व रेलमंत्री से मांग की कि झांसी स्टेशन का नाम वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई अवश्य करें लेकिन इसमें से झांसी का नाम ना हटाया जाए। झांसी के नागरिक चाहते हैं कि स्टेशन का नाम झांसी वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई या वीरांगना झांसी रानी लक्ष्मी बाई हो। उप्र उद्योग व्यापार मंडल नागरिकों के साथ है। व्यापारियों ने जिलाधिकारी को भी इस आशय का ज्ञापन सौंपकर केंद्र सरकार के पास कार्रवाई के लिए भेजने का अनुरोध किया।

इस अवसर पर जिलाध्यक्ष उमेश गुप्ता, महामंत्री नितिन सरावगी, पुनीत अग्रवाल, युवा प्रदेश महामंत्री जितेंद्र सोनी, जिलाध्यक्ष आईटी सेल प्रदीप त्रिपाठी, युवा महामंत्री अनुज मुड़िया, महिला जिलाध्यक्ष कंचन आहूजा, उषा सेन, कुसुम कुशवाहा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेश गुप्ता, अशोक अग्रवाल काका जी ,मुकेश मारवाड़ी, तरुण साहू, बृज बिहारी सोनी, जय किशन प्रेमानी, राजेंद्र शर्मा, अनूप जैन, दिलीप महोबिया, नीरज रायकवार, राहुल मिश्रा एवं अन्य व्यापारीगण उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.