युवती मौत को लेकर पुलिस ने किया बड़ा खुलासा, अपने ही निकले हत्यारे

0 39

बाराबंकी : असन्द्रा थाना क्षेत्र के एक गांव में बीते दिनों हुई नाबालिग किशोरी की मौत के मामले पुलिस ने चौकाने वाला खुलासा किया है।और किशोरी के सगे चाचा व उसके एक पूर्व प्रेमी को पुलिस ने दबोच लिया है जबकि एक सगा रिशेतदार फरार होने में सफल हुआ है।

बुधवार को अपर पुलिस अधीक्षक साउथ मनोज कुमार पाण्डेय ने रिजर्व पुलिस लाइन सभागार में पत्रकार वार्ता करते हुए जानकारी देते हुए बताया कि असन्द्रा क्षेत्र में एक 17 वर्षीय किशोरी का अनैतिक सम्बन्ध गांव के ही एक युवक के साथ कुछ माह से था और अक्सर घर के बाहर मुलाकात हो जाया करती थी लेकिन उस रात को उसके कथित प्रेमी को ठंड लग रही थी तो किशोरी ने उसे अपनी झोपड़ी नुमा घर के अंदर बुला लिया इस बीच किशोरी का सगा चाचा रामकिशोर पुत्र रामनरेश निवासी गढ़ी बढ़ौली थाना असन्द्रा व उसका कथित प्रेमी सिराज पुत्र मुराद अली निवासी गढ़ी बढ़ौली थाना असन्द्रा व रिश्ते में उसका फूफा लाल बहादुर उर्फ लल्लू अवहतिया पुत्र दरियारा निवासी गढ़ी बढ़ौली असन्द्रा ने किशोरी को सिराज के साथ आपत्तिजनक अवस्था मे देख लिया

जिसके बाद चाचा रामकिशोर ने किशोरी की गर्दन को अपने एक औजार से दबा दिया और उसकी मौत हो गई।जबकि रात में मृत हुई किशोरी की मौत की वजह मृतका के परिवार व हत्यारोपी चाचा रामकिशोर ने बताया कि झोपड़ी में मौजूद एक जहरीले सर्प ने डंस लिया जिसके बाद उसकी मौत हो गई मृतका के भाई अनिल कुमार ने असन्द्रा थाने पोस्टमार्टम के लिये दी गई तहरीर में बताया कि झोपड़ी में जहरीले सर्प ने बहन को रात में डंस लिया है जिसकी मुंह मे झाग निकलने के बाद दर्दनाक मौत हो गई है वहीं पुलिस ने तत्काल ही किशोरी के शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिये भेजा और पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सर्प के डंसने की रिपोर्ट नही बल्कि गर्दन के घुटने से मौत होने की पुष्टि हुई।

जिसके बाद पुलिस ने डॉग स्क्वायड मैनुअल इंटेलिजेंस, फॉरेंसिक रिपोर्ट में पाया कि किशोरी की हत्या हुई है।जिसके बाद प्रभारी निरीक्षक असन्द्रा पीके तिवारी व उपनिरीक्षक धर्मेंद्र सिंह टीम ने महज 36 घण्टे में वारदात का खुलासा कर दिया।और हत्यारोपी चाचा रामकिशोर व मृतका के प्रेमी सिराज निवासीगण गढ़ी बढ़ौली थाना असन्द्रा को गिरफ्तार कर लिया जबकि मृतका का रिश्ते में फूफा लाल बहादुर उर्फ लल्लू उसी दिन के बाद से फरार है हालांकि पुलिस ने वारदात को गम्भीरता से लेते हुए घटना का खुलासा किया है।जिसमे धारा 376 व पॉक्सो एक्ट में बढ़ोतरी करके मुकदमा दर्ज करके जेल भेज दिया है और फरार आरोपी की तलाश के लिये पुलिस ने टीमो का गठन कर दिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.