जैदपुर पुलिस की मार्फिन तस्करों से हुई मुठभेड़

0 157

बदमाश सहित पुलिसकर्मी घायल, मौके पर पहुँचे आलाधिकारी 

 

बाराबंकी : अपराधियो पर कहर बनकर टूट पड़ने वाले जिले के तेजतर्रार ईमानदार धर्मेन्द्र सिंह रघुवंशी ने एक बार फिर अपराधियो के साथ दो दो हाथ करने की कसम खा ली है। वही जनपद मे मंगलवार की सुबह जैदपुर पुलिस और तस्करों के बीच मुठभेड़ हो गयी। मुठभेड़ के दौरान तस्करों की गोली से एक सिपाही जख्मी हो गया। जिसके बाद पुलिस की काउंटर फायरिंग में एक शातिर तस्कर भी पैर में गोली लगने से घायल होकर गिर पड़ा. जबकि उसका साथी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। जैदपुर थाना प्रभारी धर्मेन्द्र सिंह रघुवंशी के मुताबिक मुखबिर द्वारा सुचना मिली की कुछ बदमाश आ रहे है। जिसके बाद धर्मेन्द्र सिंह रघुवंशी ने तड़के सुबह लगभग 4 बजे जैदपुर-सफदरजंग मार्ग पर वाहन चेकिंग अभियान चलाया। इसी दौरान एक बाइक सवार कुछ लोगो को पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो उन्होंने फरार होने के प्रयास में पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी. बदमाशों की गोली लगने से शैलेन्द्र सिंह नाम का सिपाही जख्मी हो गया। पुलिस द्वारा काउंटर फायरिंग में शत्रोहन नाम का एक बदमाश भी पैर में गोली लगने से बाइक से गिर पड़ा जबकि उसका दूसरा साथी अखलाक मौके से फरार होने में कामयाब हो गया।

एसपी यमुना प्रसाद के मुताबिक गिरफ्तार शत्रोहन की जामातलाशी में उसके पास से 500 ग्राम मार्फीन, एक देशी तमंचा, एक जिंदा कारतूस, 50 हजार की नगदी सहित आधार कार्ड और एक मोटर साईकिल बरामद हुई है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि शत्रोहन और दूसरा साथी अखलाक के उप्पर कई जिलो मे गम्भीर मुकदमे चल रहे है और एनडीपीएस और गौ हत्या जैसे मामलों में जा चुका है जेल पुलिस के मुताबिक शत्रोहन पुत्र राम प्रसाद जैदपुर थाना क्षेत्र के पनिहल गांव का रहने वाला है. 2004 में उसके ऊपर एनडीपीएस और गौहत्या के मुकदमें दर्ज हो चुके है। शत्रोहन दिल्ली की जेल में लगभग 10 वर्ष बंद भी रह चुका है। पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने एक बार फिर जैदपुर थाना प्रभारी धर्मेन्द्र सिंह रघुवंशी और उनकी पूरी टीम को बधाई दी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.