मां-बेटी आत्मदाह प्रयास मामले में 4 पुलिसकर्मी सस्पेंड, एमआईएम नेता कादिर समेत दो गिरफ्तार

0 313

लखनऊ : लोकभवन के सामने मां-बेटी आत्मदाह के मामले में ड्यूटी में लापरवाही पाए जाने वाले 4 पुलिसकर्मी को सस्पेंड कर दिया गया है। इसके साथ ही एमआईएम नेता कादिर खान और कांग्रेस नेता अनूप पटेल सहित चार मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। एमआईएम नेता कादिर खान समेत एक महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है।

शनिवार को रिजर्व पुलिस लाइन में पुलिस आयुक्त और संयुक्त पुलिस आयुक्त ला एंड आर्डर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय ने बताया कि लोक भवन पर आत्मदाह की घटना में पता चला है कि यह एक आपराधिक साजिश के अनुसार किया गया था जिसमें कुछ लोगों ने महिलाओं को उकसाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। हमने एमआईएम नेता कादिर खान और कांग्रेस नेता अनूप पटेल सहित 4 पर के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

मां की हालत नाजुक, बेटी सही :आत्मदाह करने वाली महिला की हालत नाजुक बनी हुई है, जबकि बेटी की हालत सही है। वरिष्ठ डाॅक्टरों की निगरानी में लगातार इलाज चल रहा है। शासन व पुलिस के वरिष्ठ अफसर भी लगातार डाॅक्टरों के संपर्क में हैं। सिविल अस्पताल के निदेशक डॉ डीएस नेगी ने बताया कि बर्न वार्ड में अमेठी की महिला की स्थिति बहुत गंभीर है। क्योंकि वह 90 फीसदी तक जल चुकी है। जबकि उसकी बेटी की हालत में पहले से काफी सुधार है।

आपको बता दें कि अमेठी के जामो थाना क्षेत्र की रहने वाली सोफिया (56) ने अपनी बेटी गुड़िया (28) ने शुक्रवार शाम को लोक भवन के सामने मिट‌टी का तेल छिड़क कर आग ली। सोफिया आग की लपटों से घिरी सड़क पर दौड़ती रही। किसी तरह वहां मौजूद लोगों की मदद से पुलिस ने आग बुझायी और दोनों को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया। सोफिया की हालत गम्भीर बनी हुई है।

आरोप है कि जामो में उनका कुछ लोगों से जमीन व पानी निकासी का विवाद चल रहा है। इसमें प्रशासन कोई मदद नहीं कर रहा है। इससे नाराज होकर ही दोनों ने यह कदम उठा लिया। एसीपी हजरतगंज अभय कुमार मिश्रा के मुताबिक इन दोनों के आत्मदाह के प्रयास के बारे में कोई सूचना नहीं थी। अमेठी पुलिस व प्रशासन ने भी ऐसी कोई जानकारी नहीं दी थी। गुड़िया से यह पता चला कि जामो में उनकी पैतृक जमीन है। इस पर कब्जा व पानी निकासी को लेकर कुछ लोगों से विवाद चल रहा है। ये लोग कई बार उन लोगों को परेशान कर चुके हैं। कुछ दिन पहले दोनों पर हमला भी किया गया।

इस सम्बन्ध में उन्होंने जामो पुलिस व एसडीएम के यहां शिकायत भी की लेकिन किसी ने मदद नहीं की। इस पर ही वह शुक्रवार को लोकभवन के सामने पहुंचे। किसी के कुछ समझने से पहले ही सोफिया ने गुड़िया पर तेल छिड़का, फिर खुद पर पीपिया उड़ेल ली और आग लगा ली। उनकी चीख सुनकर लोग बचाने दौड़े तो सोफिया सड़क पर इधर-उधर भागने लगी। कुछ लोगों की मदद से बड़ी मुश्किल से पुलिस ने आग बुझायी और तुरन्त ही सिविल अस्पताल भेजा, जहां इलाज चल रहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.