जनपद में 11 से 17 अगस्त तक समरोहपूर्वक मनाया जायेगा हर घर तिरंगा कार्यक्रम

0 16

 

बहराइच । आज़ादी का अमृत महोत्सव अन्तर्गत 11 से 17 अगस्त 2022 तक ‘‘हर घर तिरंगा’’ कार्यक्रम की समीक्षा हेतु शुक्रवार को देर शाम कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र निर्देश दिया कि 16 से 30 जुलाई 2022 जनपद के समस्त विद्यालयों में झण्डा बनाने की प्रतियोगिता आयोजित की जाय। प्रतियोगिता में इच्छुक नागरिकों एवं स्वयं सेवी संगठनों को भी शामिल किया जाय। सर्वश्रेठ झण्डा बनाने वाले छात्र-छात्राओं, नागरिकों, स्वयं सेवी संगठनों को सम्मानित किया जायेगा।
जिलाधिकारी डॉ. चन्द्र निर्देश दिया कि प्रतियोगिता आयोजन से पूर्व शिक्षकों द्वारा छात्र-छात्राओं को झण्डा के महत्व के बारे में बताया जाय इसके पश्चात 12 से 15 जुलाई 2022 तक छात्र-छात्राओं का झण्डा बनाने हेतु नामांकन किया जाय। डीएम डॉ. चन्द्र जिला विद्यालय निरीक्षक व जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिया गया कि शासन की मंशानूरूप झण्डा बनाने की प्रतियोगिता का सफलतापूर्वक आयोजन सुनिश्चित कराएंगे।
डीएम डॉ. चन्द्र ने कहा कि कि हर घर तिरंगा कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य यह है कि प्रत्येक नागरिक के मन में राष्ट्रे प्रेम की भावना जागृत करते हुए स्वतन्त्रता के प्रतीकों के प्रति सम्मान का भाव उजागर करना है। हर घर तिरंगा कार्यक्रम प्रत्येक सरकारी अधिकारी कर्मचारी, शिक्षकगण, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों, स्वयं सहायता समूहों, विभिन्न नागरिक संगठनों आदि के सहयोग से क्रियान्वित किया जाना है।
डीएम डॉ. चन्द्र ने निर्देश दिया कि वाणिज्यिक एवं व्यावसायिक समूहों एवं संगठनों को उनकी सहभागिता एवं जिरंगा झण्डा बनवाने के लिए सी.एस.आर. संसाधनों को उपलब्ध कराने जाने हेतु प्रेरित किया जाय, समस्त सरकारी/विभागीय वेबसाइट एवं सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर अमृत महोत्सव की वेबसाइट पर उपलब्ध ‘‘हर घर तिरंगा’’ का लिंक दिया जाय। ग्राम पंचायत स्तर पर सम्बन्धित विभाग द्वारा जागरूकता सत्र का आयोजन करते हुए ग्राम प्रधानों को शत-प्रतिशत घरों, दुकानों, कार्यालयों, शैक्षणिक संस्थानों तथा नलकूपों इत्यादि पर झण्डा फहराने हेतु प्रेरित किया जाय। जनपद के समस्त नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में झण्डा के वितरण/बिक्री हेतु केन्द्रों को चिन्हित कर जनपद की समस्त सरकारी राशन की दुकानों को झण्डा वितरण एवं बिक्री केन्द्र के रूप में प्रयोग किया जाय।
झण्डों के निर्माण हेतु स्वयं सहायजा समूहों को सम्मिलित करते हुए ‘‘झण्डा निर्माण समूहों’’ का गठन किया जाय। सभी जिला स्तरीय अधिकारियों द्वारा झण्डों के निर्माण हेतु स्वयं सहायता समूहों, स्थानीय टेलर्स तथा आई.टी.आई. व अन्य वोकेशनल प्रशिक्षण केन्द्रों के दक्षकारों का चयन कर लिया जाय। जनपद को दिये गये लक्ष्यों एवं आवश्यकता के दृष्टिगत पर्यापत संख्या में झण्डों का निर्माण सुनिश्चित कराया जाय। नगरीय एवं पंचायत स्तर पर लोगों को झण्डा क्रय करने एवं कार्यक्रम में सम्मिलित होने होने हेतु प्ररित भी किया जाय। जनपद के समस्त सरकारी, सार्वजनिक क्षेत्र के प्रतिष्ठानों, शैक्षणिक संसथानों, व्यावसायिक एवं वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों, गैर सरकारी संगठनों, रेस्टोरेन्ट, शापिंग काम्पलेक्स, टोल प्लाज़ा, पुलिस चौकी/थाना इत्यादि को इस कार्यक्रम में अनिवार्य रूप से झण्डा फहराया जाय। डीएम ने यह भी निर्देश दिया कि स्थानीय भाषा में बैनर, पम्पलेट, स्टैण्डी, होर्डिंग्स एवं अन्य उचित माध्यमों से कार्यक्रम का व्यापक प्रचार-प्रसार भी किया जाय।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एस.के. सिंह, परियोजना निदेशक डीआरडीए पी.एन. यादव, जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. चन्द्रपाल, जिला पंचायज राज अधिकारी उमाकान्त पाण्डेय, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अजय कुमार, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. एम.के. सचान व अन्य जिला स्तरीय अधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी मौजूद रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.