पेयजल आपूर्ति सर्वोच्च प्राथमिकता : आयुक्त

0 9

झांसी : मण्डलायुक्त डॉ अजय शंकर पाण्डेय ने कमिश्नरी सभागार में विकास कार्याे की मण्डलीय समीक्षा के दौरान निर्देश दिये कि पेयजल आपूर्ति सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में है, इसमें किसी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जायेगी। मण्डलायुक्त ने पानी की उपलब्धता बनाये रखने हेतु जल संस्थान, जल निगम, विद्युत विभाग के अधिकारियों को सख्त निर्देशों के साथ यह भी कहा कि पेयजल आपूर्ति के दौरान बिजली कटौती होने पर जिम्मेदार अभियंताओं के विरुद्व अधीक्षण अभियंता कार्रवाई करें।

उन्होंने कहा कि पेयजलापूर्ति के दौरान विद्युत कटौती किये जाने तथा अन्य समस्याओं का समयबद्व निस्तारण न होने से आमजनता को कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है ऐसी स्थिति के लिये सम्बन्धित विद्युत अभियंताओं के विरुद्व कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। मण्डलायुक्त ने नहरों में टेल तक पानी की उपलब्धता सुनिश्चित कराने, सिल्ट सफाई, पुलिया निर्माण सम्बन्धी कार्यो की जानकारी जनप्रतिनिधियों को अनिवार्य रुप से उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

उन्होंने मण्डल में संचालित गौशालाओं में भूसा, चारा, पानी की समुचित व्यवस्था प्रतिदिन देखने हेतु नोडल अधिकारी स्थिति निरीक्षण कर समस्याओं का समाधान करायें वह पारदर्शिता, स्वच्छता, ईमानदारी पर विशेष बल दें। मण्डलायुक्त ने निराश्रित गौवंश संरक्षण योजना की समीक्षा करते हुये सीवीओ को निर्देश दिये कि प्रत्येक गौशाला पर जो नोडल अधिकारी नामित कराये गये है उनसे फीडबैक लेते रहे, जिससे गौशाला में भूसा, चारा, पानी आदि मूलभूत सुविधाओं की उपलब्धता बनी रहे, जिससे निराश्रित गोवंश बाहर घूमता न मिले।

बैठक में पेयजलापूर्ति की समीक्षा के दौरान जल निगम के अधिशाषी अभियंता द्वारा बैठक में जनरेटर की उपलब्धता के सम्बन्ध में गलत तथ्य प्रस्तुत करने पर जिलाधिकारी द्वारा टीम भेजकर हकीकत परखी गयी तो इस पर मण्डलायुक्त ने सत्यनिष्ठा संदिग्ध मानते हुये शासन को पत्र लिखे जाने के निर्देश दिये। लोक निर्माण विभाग द्वारा निर्माण कार्याे में गुणवत्ता, समयबद्वता पर विशेष ध्यान देने की जरुरत है, जो कार्य धीमी गति से चल रहे है उन कार्याे में गति प्रदान करने समयानुसार कार्य पूर्ण कराना सुनिश्चित करें।

मण्डलायुक्त ने झांसी, ललितपुर, जालौन में निर्माणाधीन सड़क एवं पुल निर्माण कार्याे की समीक्षा करते हुये निर्धारित समय के अन्तर्गत कार्य पूर्ण कराने के लिये सम्बन्धित विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिये। बैठक में संयुक्त कृषि निदेशक एसएस चौहान ने बताया कि मंडल के तीनों जिलों में सोलर फोटो वोल्टेज सिंचाई पम्प आपूर्ति एवं स्थापना हेतु कुल 320 करोड़ रुपये का क्लेम लाभार्थियों को मिल चुका है। इस सम्बन्ध में मण्डलायुक्त ने लाभार्थियों की सूची का सत्यापन कराये जाने के निर्देश तीनों जिलों के सीडीओ को दिये।

मण्डलायुक्त ने अवैध खनन सम्बन्धी शिकायतों को गम्भीरता लेते हुये प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। मंडलायुक्त ने मंडलीय समीक्षा के दौरान विद्युत विभाग की समीक्षा करते हुए अनावश्यक विद्युत कटौती किये जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुये अधीक्षण अभियंता को कार्यप्रणाली में सुधार लाये जाने के साथ ही अधीनस्थ अभियंताओं के विरुद्व कार्यवाही सुनिश्चित किये जाने के निर्देश दिए। सभी जनपदों में 10 बड़े बकायेदारों पर कार्यवाही सुनिश्चित की जाए, वसूली में सभी जनपदों में सुधार अपेक्षित है।

मण्डल में शान्ति एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक करते हुये असामाजिक तत्वों के विरुद्व कड़ी कार्यवाही सुनिनिश्चत कराने हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिये। उन्होंने छोटी से छोटी घटनाओं को गम्भीरता से लिये जाने के निर्देश दिये। कमिश्नरी में बैठक के दौरान डीआईजी जोगेन्द्र कुमार, जिलाधिकारी झाँसी रविन्द्र कुमार, जिलाधिकारी ललितपुर आलोक सिंह, जिलाधिकारी जालौन प्रियंका निरंजन, सीडीओ झांसी शैलेष कुमार, अपर आयुक्त प्रशासन व जेडीए उपाध्यक्ष सर्वेश कुमार दीक्षित, संयुक्त विकास आयुक्त मिथिलेश सचान,
उपनिदेशक अर्थ एवं संख्या अधिकारी एसएन त्रिपाठी, संयुक्त कृषि निदेशक एसएस चौहान सहित तीनों जनपदों के एसएसपी, सीडीओ, एडीएम, डीएफओ, आरटीओ, मण्डी सचिव, अपर नगर आयुक्त एवं विभिन्न विभागों के मण्डलीय व जिला स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.