गर्वनर आरिफ मोहम्मद खान करेंगे 20 विभूतियों को सम्मानित

0 114

अक्टूबर से होगा गांधी सप्ताह का आगाज

बाराबंकी : महात्मा गांधी की जयन्ती पर 1978 से निरंतर आयोजित होने वाले विविध कार्यक्रमों की शुरूआत 01 अक्टूबर से होगी। यह वर्ष एक स्वर्णिम वर्ष है जब हमारा देश श्री गांधी आश्रम का शताब्दी वर्ष, चौरी-चौरा का शताब्दी वर्ष और स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ मना रहा है। ऐसे में गांधी जयन्ती समारोह ट्रस्ट एक बार फिर गांधी जयन्ती सप्ताह (01 अक्टूबर से 07 अक्टूबर) का आयोजन कर रहा है। जिसका अहम उद्देश्य महात्मा गांधी के विचारों को जीवंत बनाए रखते हुए उनके बताए सत्य, अहिंसा, सौहार्द और समरसता के सिद्धान्त को आत्मसात करना है। यह बात गांधी भवन में गांधी जयन्ती सप्ताह को अन्तिम रूप दे रहे गांधी जयन्ती समारोह ट्रस्ट के अध्यक्ष राजनाथ शर्मा ने कही। उन्होंने बताया कि इस वर्ष गांधी जयन्ती सप्ताह के समस्त कार्यक्रम गांधी भवन में आयोजित होंगे। कोविड नियमों को ध्यान में रखते हुए सप्ताह की शुरूआत 01 अक्टूबर को होगी और समापन 07 अक्टूबर को गांधी स्मृति एवं दर्षन समिति, नई दिल्ली के निदेषक दीपंकर श्रीज्ञान करेंगे।

कार्यक्रम अध्यक्ष मो. उमेर किदवई ने बताया कि 02 अक्टूबर को सायंकाल 04 बजे गांधी भवन में मुख्य अतिथि केरल के राज्यपाल श्री आरिफ मोहम्मद खान सामाजिक सहभागिता सम्मान के अर्न्तगत 20 विभूतियों से सम्मानित करेंगे। जिनमें वरिष्ठ पत्रकार एवं गांधीवादी राजीव नयन बहुगुणा को महात्मा गांधी शान्ति पुरस्कार, युवा लेखक एवं उ.प्र खुदाई खिदमतगार संगठन के हफ़ीज किदवई को खान अब्दुल गफ्फार खान सद्भावना पुरस्कार, आचार्य नरेन्द्र देव की पौत्रवधू श्रीमती मीरा वर्धन को आचार्य नरेंद्र देव पुरस्कार, वरिष्ठ राजनेता अमीर हैदर को युसूफ मेहर अली पुरस्कार, लोकनायक जयप्रकाष नारायण ट्रस्ट, लखनऊ के संयोजक अनिल त्रिपाठी को जे.पी सम्पूर्ण क्रांति पुरस्कार, लखनऊ विष्वविद्यालय की पूर्व कुलपति डॉ रूपरेखा वर्मा को अरूणा आसफ अली पुरस्कार, देवरिया के वरिष्ठ समाजवादी चिन्तक जितेन्द्र कुमार पाण्डेय को डॉ. लोहिया सप्तक्रांति पुरस्कार, सांसद उपेन्द्र सिंह रावत को डा. भीमराव अम्बेडकर सामाजिक न्याय पुरस्कार, युवा षिक्षाविद् डा. अली खान महमूदाबाद को डॉ. सम्पूर्णानन्द षिक्षा पुरस्कार, पूर्व मंत्री शारदा प्रताप शुक्ला को चन्द्रभानु गुप्त जनसेवा पुरस्कार, वरिष्ठ समाजवादी लेखक मधुकर त्रिवेदी को मधुलिमये पुरस्कार, राजीव रंजन राय को लोकबंधु राजनारायण पुरस्कार, नीरज त्यागी को चन्द्रषेखर पुरस्कार, लोकतंत्र सेनानी धीरेन्द्र नाथ श्रीवास्तव को लाडली मोहन निगम पुरस्कार, वरिष्ठ भाजपा नेता मनीष शुक्ला को दीनदयाल उपाध्याय पुरस्कार, प्रख्यात शायर डॉ. शकील मोईन को को मज़ाज पुरस्कार, हिंदीसेवी एवं लेखक डॉ.सुधाकर तिवारी को मनु शर्मा हिन्दी साहित्य पुरस्कार, पूर्व डी.आई.जी राजेष कुमार पाण्डेय को प्रषासनिक सेवा सम्मान, भारतीय विधि संस्थान के पूर्व रजिस्ट्रार डॉ. के. एस भाटी को लाइफ टाइम अचीवमेंट पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। श्री किदवई ने बताया कि 02 अक्टूबर की सायंकाल 6 बजे से 43वां अखिल भारतीय कवि सम्मेलन एवं मुषायरा भी आयोजित किया जाएगा। इस मौके पर प्रमुख रूप से हाजी सलाउद्दीन किदवई, शऊर कामिल किदवई, विनय कुमार सिंह, फरहत उल्ला किदवई, हुमायूं नईम खान, प्रसपा नेता धनंजय शर्मा, जमील-उर-रहमान, पाटेष्वरी प्रसाद, जुबेर अहमद, नीरज उपाध्याय, मृत्युंजय शर्मा, सत्यवान वर्मा, उमानाथ यादव, मनीष सिंह, पी.के सिंह, नीरज दूबे, साकेत मौर्या, विजय कुमार सिंह, अतीकुर्रहमान, अनुपम सिंह राठौर, अदीब किदवई, अनिल यादव आदि लोग मौजूद रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.