कोविड के मद्देनजर डीएम ने आक्सीजन प्लांट व वार्ड देखा

0 7

निरीक्षण के दौरान आक्सीजन उपलब्ध के बारे में ली जानकारी
टेक्नीशियन, स्टाफ को प्रशिक्षण दिलाए जाने के दिए निर्देश

बांदा। जिलाधिकारी दीपा रंजन ने बुधवार को कोविड के परिपेक्ष्य में जिला अस्पताल में आक्सीजन प्लांट एवं कोविड नियंत्रण के लिए बनाये गये कोविड वार्ड का निरीक्षण किया। उन्होंने जिला अस्पताल में बनाये गये आक्सीजन प्लांट का निरीक्षण कर आक्सीजन की उपलब्धता के सम्बन्ध में जानकारी ली। आक्सीजन प्लांट संचालित पाया गया। इसके उपरान्त उन्होंने कोविड वार्ड का निरीक्षण किया तथा वार्ड में लगी वेन्टिलेटर मशीन को चलवाकर देखा जो कि संचालित पाई गई। इसके साथ ही अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं का जायजा लेते हुए मौके पर उपस्थित मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को वार्ड में लगे टेक्नीशियन, स्टाफ को कोविड के लिए आवश्यक प्रशिक्षण दिलाये जाने के निर्देश दिये। निरीक्षण के दौरान 23 कोविड बेड की व्यवस्था पाई गई तथा वेन्टिलेटर आदि संचालित मिले। जिलाधिकारी ने समय-समय पर सारी व्यवस्थाओं को दुरस्त रखने के निर्देश दिये, ताकि आवश्यकता पड़ने पर किसी प्रकार की परेशानी न होने पाए।

इसके बाद उन्होंने पीकू वार्ड का निरीक्षण किया, जिसमें बच्चों के इलाज के लिए आवश्यक व्यवस्थाओं को देखा। निरीक्षण के दौरान बताया गया कि 30 बेड पीआईसीयू में संचालित हैं। उन्होंने बच्चों के अभिभावकों के लिए भी व्यवस्था कराये जाने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने अस्पताल में किये जा रहे कोविड वैक्सीनेशन के अन्तर्गत वैक्सीनेशन के सम्बन्ध में जानकारी ली, जिसमें बताया गया कि प्रतिदिन वैक्सीनेशन के लिए लोग आ रहे हैं। उन्होंने जिला अस्पताल में स्थापित किये गये हेल्थ एटीएम के अन्तर्गत की जाने वाली स्वास्थ्य जांच के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं कराये जाने के निर्देश मुख्य चिकित्सा अधीक्षक एसएन मिश्रा को दिये। निरीक्षण के दौरान चिकित्सकगण एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।

ट्रामा सेंटर में नहीं है आक्सीजन पाइप लाइन

ओमीक्रान की दस्तक फिर से शुरू हो गई है। इसको लेकर जहां स्वास्थ्य विभाग चैकन्ना नजर आ रहा है वहीं मंडल स्तर के अधिकारी भी आए दिन कोविड अस्पतालों का निरीक्षण कर रहे हैं। बुधवार को जिलाधिकारी दीपा रंजन कोविड अस्पताल निरीक्षण में आई थीं। निरीक्षण के दौरान सीएमएस डा.एसएन मिश्रा ने बताया कि उनके दोनो आक्सीजन प्लांट चल रहे हैं। लेकिन ट्रामा सेंटर में आक्सीजन पाइप लाइन नहीं है और कोविड अस्पताल में बिजली का लोड बढ़ाने के लिए कहा। इस पर जिलाधिकारी ने सीएमएस को निर्देश दिए कि वह तत्काल आक्सीजन पाइप लाइन का प्रस्ताव बनाकर उन्हें दें। उन्होंने बिजली विभाग के एक्सईएन को फोन पर कहा कि कोविड अस्पताल में तत्काल लोड बढ़ाएं।

बगैर अनुमति मुख्यालय छोड़ा तो होगी सख्त कार्रवाई

जिलाधिकारी दीपा रंजन ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए है कि वह बिना उनकी अनुमति प्राप्त किए मुख्यालय से बाहर न जाए और अपना मोबाइल क्रियाशील रखे। उन्होंने कहा कि यह देखा जा रहा है कि कतिपय जिला स्तरीय अधिकारी बिना उनकी अनुमति प्राप्त किए अथवा सूचना दिए अपने मंडलीय उच्च अधिकारी से अवकाश स्वीकृत कराकर अथवा अनुमति प्राप्त कर मुख्यालय से बाहर चले जाते है और अपना मोबाइल भी बंद कर लेते हैं। जिससे शासकीय कार्य में व्यवधान होता है। शासन स्तर से मांगी गई सूचनाओं का प्रेषण करने में भी परेशानी होती है। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि आदेश के विपरीत स्थिति पाई गई तो संबंधित अधिकारी के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.